‘आयवा’ के सदस्य रात को पहुंचे जगह-जगह

भोपाल, 8 दिसंबर. ग्यारह सौ क्वार्टर गणेश मंदिर के फुटपाथ पर सो रहे बेसहारा और भीख मांग कर गुजर-बसर करने वाले लोगों को बुधवार देर रात अप्रत्याशित और सुखद अनुभव तब हुआ जब उन्होंने पाया कि उनके ऊपर सोते में ही कोई कम्बल ओढ़ा गया है.

ऐसा ही अनुभव सुल्तानिया रोड, सांई मंदिर, रेलवे स्टेशन एरिया आदि जगहों पर खुले आकाश के नीचे सोने वाले लोगों को हुआ. गरीबों के लिये एक छोटे सपने को सच करने की यह पहल की ‘आयवा’ संस्था ने. बुधवार रात संस्था की नव निर्वाचित अध्यक्ष मंजू रावत, पूर्व अध्यक्ष ममता मेहता, सचिव सीमा परिहार, ममता मिश्रा, साधना उपाध्याय, नजद खान अपने साथ कम्बल लेकर शहर के ऐसे स्थानों की तलाश में निकली जहां गरीब स्त्री-पुरुष और बच्चे खुले आकाश के नीचे रात गुजारते हैं. जरूरतमंदों को तलाशते हुये संस्था की ओर से डेढ़ सौ कम्बल बांटे गये. आयवा संस्था की अध्यक्ष मंजू रावत ने बताया कि प्रथम चरण में बेसहारा लोगों को पांच सौ कम्बल बांटने का लक्ष्य है. श्रीमती रावत ने बताया कि संस्था सरकारी स्कूलों में लड़कियों का नेत्र परीक्षण और सामान्य स्वास्थ्य जागरूकता के लिये भी भविष्य में कार्य करेगी. संस्था ने पिछले दिनों कैंसर अस्पताल में बच्चा वार्ड का निर्माण भी कराया है.

Related Posts: