राज्यपाल को अधिकारों का उपयोग आना चाहिए: अजीज कुरैशी

भोपाल,12 जुलाई,नभासं. उत्तराखंड के राज्यपाल अजीज कुरैशी ने आज कहा कि चारों धाम के विकास के लिए एक मास्टर प्लान और प्रशासनिक व्यवस्था के लिए प्रशानिक प्राधिकरण बनाया जायेगा.

कुरैशी ने यहां सेन्ट्रल प्रेस क्लब की ओर से आयोजित प्रेस से मिलिये कार्यक्रम में कहा कि राज्य के चारों धाम के दर्शनार्थियों की सुविधाएं बढाए जाने के प्रयास किये जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि एडवेंचर स्पोटर्स की सुविधाएं बढाने की काफी संभावना है और इस दिशा में एडवेंचर टूरिज्यम विकास प्राधिकरण के गठन की योजना बनाई जायेगी. उन्होंनें कहा कि इन धामों के विकास करना राज्य को एज्युकेशन हब के रूप और अधिक मजबूत करना और सभी वर्गो के विकास और कल्याण के काम करना राज्य सरकार की प्राथमिका में शामिल है. उन्होंने कहा कि गंगा नदी पर बनने वाले बांध क ा विरोध कर रहे साधु संतो की उपेक्षा नही की जाना चाहिए और सरकार को बातचीत करके सर्वसम्मत हल निकालना चाहिए.

उत्तराखंड के चारो धार्मो के

विकास के लिए मास्टर प्लान बनाया जायेगा कुरैशी ने एक सवाल पर कहा कि राज्यपाल बेबस नही होता है और इस पद पर बैठे व्यक्ति को अपने अधिकारों का उपयोग करना आना चाहिए. राज्यपाल को अपने अधिकार का उपयोग करते समय किसी पक्ष से टकराव अथवा विवाद होने की चिंता नही करना चाहिए. उन्होंने छोटे राज्यों में राजनीतिक अस्थिरता के सवाल पर कहा कि वह छोटे राज्यों के गठन के पक्ष में नही है. राज्य बडा होने पर वहां की संस्कृति कायम रहने के साथ विकास के कार्य तेजी से होते है. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार का मुद्दा बडा व्यापक हो गया है और समाज के सभी वर्गो ने भ्रष्टाचार को बढावा देने का काम किया है. इसे समाप्त करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को प्रण करना होगा कि वह अपने काम के लिए गैर क़ानूनी तरीके से पैसा नही देगा.

राज्यपाल ने कहा कि मध्यप्रदेश में सभी सरकारों ने विकास के कार्य किये है और राजधानी भोपाल का भी काफी विकास किया गया है.लेकिन कांग्रेस और भाजपा सरकार ने पुराने भोपाल के विकास के मामले में पक्षपात किया है. जिसके कारण आज भी पुराने भोपाल में गंदगी,नाली,सडक,पेयजल और चिकित्सा सुविधा की समस्याएं बनी हुई है. उन्होंने कहा कि वह हेलीकाप्टर से उतरे हुए नेता नही है.बल्कि संघर्ष करके राजनीति में आगे बढे है.

zp8497586rq

Related Posts: