कहीं मेंहदीपुर के बालाजी और जगह-जगह माँ की साज-सज्जा सहित झांकियां

भोपाल, 29 सितंबर. जय दुर्गे जय काली आदि के साथ दुर्गा महारानी की गूंज भोपाल के हर चौराहे पर नौ दिन तक गूंजेगी. शक्ति पर्व के रूप में मनाये जाने वाला नवरात्रि पर्व के पहले दिन से ही राजधानी का वातावरण भक्तिमय हो गया.

माता रानी की झाकियां मानों भोपाल शहर में देखते ही बनती है जिसमें आकर्षण विद्युत साज-सज्जा से जगमगा उठा है, उपवास के लिए विशेष माने जाने वाले यह नौ दिन अपने में विशेष महत्व रखते है. माना जाता है कि माता रानी से इस पर्व पर जो कुछ मांगा जाता है, उस श्रद्घालु की सारी मनोकामनापूर्ण होती है.

इस नवरात्र का मात्र इतना ही महत्व नहीं है इन नौ दिनों में श्रद्घालु पैदल यात्रा करके अपनी मनोकामना को पूर्ण करने के लिए म.प्र. के लिए पर्यटन स्थल के नाम से विख्यात सलकनपुर माँ के दरबार में लगी भीड़ से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि नवरात्रि का कितना महत्व है एवं इन दिनों में लोग अपने द्वारा कि गई मन्नत की भी पूर्व की जाती है.

भक्तो की आस्था
दिनेश उपरारिया समाज सेवी इनका कहना है कि यह नौ दिन कब निकल जाते है पता ही नहीं चलता बच्चों की मस्ती चारों तरफ जयकारे की गूंज और फिर सुबह-शाम आरती करना बढ़ा सुखमय प्रतीत होता है.

-कुलदीप मोरे भारतीय संस्कृति में अनेकता में एकता विद्यमान है इसलिए भारत में एक साथ कई त्यौहार मनाए जाते है जिसमें हिंदु-मुस्लिम आदि सभी के होते है इसीलिए भारत को विश्व में धर्मगुरु का दर्जा प्राप्त है और यह नवरात्रि पर्व इसी में से एक है जिसमें श्रद्घालु नौ दिन आस्था के उपर निर्भर रहते है.

बंगाली एसोसिएशन टी.टी. नगर कालीबाड़ी में दुर्गोत्सव के मौके पर रंगारंग कार्यक्रम के साथ रात्रि जागरण करते हुए इस मौके पर इन नौ दिनों में अनेक धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा जैसे मटकी फोड़, डांडिया आदि. विट्ठल मार्केट में माँ दुर्गा की झांकी में दिन में बच्चों का उत्साह देखते ही बनता है और रात्रि में डांडिया का कार्यक्रम मानो सब का मन मोह लेता है.

-दस नम्बर पर महारानी के विराजने के साथ ही दस नम्बर पर कार्यक्रम के लिए बैठक व्यवस्था गाड़ी पार्किंग आदि के लिए सुनियोजित तरीके के साथ व्यवस्था की गई है जिससे डांडिया देखने वाले श्रद्घालुओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो.

आईबीएन मार्केट- आईबीएन मार्केट में सिंह पर विराजमान राक्षस का संहार करती भवानी साथ ही अपने पैर के नीचे राक्षस को दबाए मन मोह लेती है.

रामलीला दुर्गा उत्सव का शुभारंभ
एच.ई. सांस्कृतिक समाज बरखेड़ा के तत्वावधान में 15 दिवसीय रामलीला, दुर्गा एवं दशहरा समारोह का शुभारंभ, भेल के कार्यपालक निदेशक, एस.एस. गुप्ता ने दीप प्रज्जवलित एवं नारियल तोड़कर किया. गुप्ता ने अपने उद्ïघाटन संबोधन में उपस्थित जनसमुदाय का आव्हान किया कि वे मर्यादा पुरुषोत्तम राम के बताए हुए मार्ग पर चलकर अपने जीवन को सार्थक बनाए. आगे कहा कि एच.ई. सांस्कृतिक समाज बरखेड़ा प्रति वर्ष रामलीला कार्यक्रम का आयोजन कर राष्ट्रीय संस्कृति को ताजा करने में महत्वपूर्ण योगदान कर रहा है.समाज के अध्यक्ष महाप्रबंधक जी.डी. वर्मा ने अपने अध्यक्षीय उद्ïबोधन में समाज द्वारा रामलीला का उत्कृष्टï प्रदर्शन करते हुए सात वर्षो तक प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने के लिए एच.ई. सांस्कृतिक समाज बरखेड़ा के कलाकारों एवं पदाधिकारियों की पूरी-पूरी प्रशंसा करते हुए आशा व्यक्त की इस वर्ष भी समाज के कलाकार अच्छा कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे. समारोह में कार्यपालक निदेशक गुप्ता, महाप्रबंधक जी.डी. वर्मा, महाप्रबंधक एम. खासगीवाला एवं श्रीमती अमिता खासगीवाला, महाप्रबंधक जैमन मिंज, उद्योगपतिद्वय रमेश मलिक, श्रीमती प्रतिमा मलिक, आर.एस. खर्ब एवं श्रीमती शकुन खर्ब, विजय सिंह कठैत तथा राम बाबू शर्मा विशेष अतिथियों में शामिल थे.

Related Posts: