बेहतर चीनी उत्पादन से उत्साहित खाद्यमंत्री केवी थामस ने बुधवार को कहा कि सरकार मौजूदा विपणन वर्ष में और चीनी निर्यात करने की अनुमति देने पर विचार करेगी.

नई दिल्ली. सरकार ने 2011-12 विपणन वर्ष [अक्टूबर सितंबर] में तीस लाख टन चीनी निर्यात करने की अनुमति पहले ही दे दी है. यह निर्यात तीन समान किश्तों में किया जाना है. देश में चीनी का उत्पादन इस विपणन वर्ष में मांग से अधिक रहने की उम्मीद है. थामस ने राजीव गांधी राष्ट्रीय गुणवत्ता अवार्ड वितरण समारोह के अवसर पर संवाददाताओं से कहा कि हम मंत्रियों के अधिकार संपन्न समूह [ईजीओएम] की आगामी बैठक में और चीनी निर्यात पर विचार करेंगे क्योंकि हमारा उत्पादन अच्छा है.

मंत्री ने कहा कि इस साल चीनी का उत्पादन बढने का अनुमान है. उन्होंने कहा कि चूंकि हमारी हालत अच्छी है इसलिए हम चीनी की और मात्रा के निर्यात के खिलाफ नहीं हैं. इस साल चीनी का उत्पादन 2.467 करोड़ टन से बढ़कर 2.55 करोड़ टन रहने का अनुमान है. इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन [इस्मा] के अनुसार देश में चीन का उत्पादन मौजूदा सत्र में 15 अप्रैल तक 2.463 करोड़ टन रहा. एसोसिएशन का कहना है कि मौजूदा विपणन वर्ष में उत्पादन 2.6 करोड़ टन रहेगा. थामस ने कहा कि कृषि मंत्रालय से मिलने वाले आंकड़ों के अनुसार अगले साल चीनी का उत्पादन मौजूदा साल के स्तर पर ही रहने का अनुमान है.

कपास्या खली में जोरदार  गिरावट

वायदा में मंदी का सर्र्किट लगने से कपास्या खली के हाजर भावों में भी जोरदार गिरावट दर्ज हुई है. हाजर भाव लगभग 25 रुपए की मंदी लिए रहे. कपास्या खली (60 किलो भरती) इन्दौर 815, देवास 815, उज्जैन 815, बुरहानपुर 805, खंडवा 805, अकोला खली 1120 रुपए.  कपास्या तेल इन्दौर 690,  महाराष्टï्र 670, गुजरात 647 रु. चावल भाव-चावल

बासमती (921)- 7000-7500, तिबार 5000-5500, दुबार 4000-4500, मोगरा 2200-3700, बासमती सेला 4500-5000, राजभोग 3500, कालीमूंछ डिनर किंग 4000, दुबराज 3200-3500, परमल 1900-2000, हंसा सैला 2000-2100, हंसा सफेद 1800-1900,  पोहा 2600-2800 रुपए.

डेयरी  –शुद्ध घी 280, मक्खन 280, क्रीम 200, पनीर 200, चक्का 120, दही 48, श्रीखंड 170 रुपए.

मावा- इन्दौर मावा 220 रुपए, उज्जैन 132  रु. पए  प्रतिकिलो.

Related Posts: