कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में गरजीं सोनिया

नयी दिल्ली, 4 जून, नससे. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री, कांग्रेस और सरकार पर हो रहे हमलों को एक साजिश का हिस्सा करार देते हुये इनसे डट कर मुकाबला करने का आज संकल्प व्यक्त किया.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यों की प्रसंशा करते हुए उन पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों बेबुनियाद करार दिया है. श्रीमती गांधी ने कार्यकर्ताओं को पार्टी में एकजुटता बनाए रखने की नसीहत देते हुए बिना नाम लिए योग गुरू बाबा रामदेव और अन्ना हजारे पर सरकार के खिलाफ गैरवाजिब आरोप लगाने के कारण निशाना साधा है. कांग्रेस कार्यसमिति की विस्तारित बैठक को संबोधित करते हुए श्रीमती गांधी ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष को विरोध करने का अधिकार है लेकिन विपक्ष और कांग्रेस विरोधी तत्व यूपीए सरकार,कांग्रेस और हमारे साथियों पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं. सरकार और पार्टी स्तर पर हमें इसका डटकर मुकाबला करना चाहिए. आर्थिक दिक्कतों से आम आमदी प्रभावित हो रहा है.

यह हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती है. गैर कांग्रेसी सरकारें केन्द्र सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों में सहयोग नहीं कर रही है. आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनावों के मद्देनजर हमें अपने संगठन को हर स्तर पर मजबूत कर अभी से तैयारी करनी है. श्रीमती गांधी ने पार्टी के झगड़ालू नेताओं को भी नसीहत देते हुए कहा है कि हमें एकजुट होकर काम करना होगा. हम जितनी शक्ति गुटबाजी, फिजूल की बातों और फिजूल के कामों में खर्च करते हैं उससे आधी शक्ति यदि पार्टी को मजबूत करने में लगाएं तो हमारी ताकत दो गुना ज्यादा बढ़ जाएगी. जैसा भाव हमारे बारे में लोगों के मन में उभरेगी वे पार्टी के साथ वैसा ही सलूक करेंगे. उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि राजनीतिक मूल्यांकन व्यक्ति के रूप में नहीं पार्टी के रूप में व कांगे्रस जन के रूप में होता है. इसे गहराई से न समझना बहुत बड़ी भूल है. यह सबके लिए एक सावधानी की बात है एक चेतावनी और चुनौती है. श्रीमती गांधी ने कहा कि अगर पार्टी को मजूबत करने पर ध्यान दिया जाएगा तो पार्टी की ही ग्रोथ होगी. कार्यकर्ताओं को डिमोरलाइज्ड नहीं होना चाहिए. उन्होंने कार्यकताओं का मनोबल बढ़ाते हुए पार्टी की एक सौ छब्बीस वर्ष के सफर को याद कराते हुए कहा है कि ह अगर इस शक्ति को अपनी असली पूंजी मानकर अपने कदम बढ़ाएंगे तो पार्टी किसी भी मंजिल तक पहुंच सकती है. देशवासियों का समर्थन भी मिलेगा और हम कामयाब होंगे.े

पार्टी में गुटबाजी के खेल से त्रस्त हैं सोनिया

सत्तारूढ कांग्रेस भी गुटबाजी से त्रस्त है जिसका आज खुलकर जिक्र पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी ने पार्टी कार्यसमिति की बैठक में किया और कांग्रेसियों को इस राजनीतिक खेल से बाज आने की चेतावनी दी. लोकसभा चुनाव समय से पहले होने की अटकलों को किनारे करते हुए श्रीमती गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से 20.4 में होने वाले इन चुनावों और कुछ राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारी के लिए अभी से एकजुट होकर कमर कसने का आह्वान किया. कार्यसमिति में अपने आरंभिक भाषण में उन्होंने कहा हम जितनी शक्ति गुटबाजी, फिजूल की बातों और फिजूल के कामों में खर्च करते हैं, उससे आधी अगर पार्टी को मजबूत करने में लगाएं तो हमारी ताकत दो गुना बढ जाएगी.

सोनिया तय करेंगी राष्ट्रपति उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार
पार्टी ने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार तय करने फैसला सोनिया गांधी पर छोड़ दिया है।  सोमवार को कांग्रेस कार्य समिति ने इसके लिए सोनिया गांधी को अधिकृत किया।

हताश लोग फैला रहे अफवाह

मनमोहन ने देश को चेताया

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने टीम अन्ना पर आक्रामक रूख अपनाते हुए उसके द्वारा लगाए गए उन सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने विदेशों में पड़े भारी मात्रा में कालेधन को एक बार में लाये जाने का दावा करने पर योगगुरू रामदेव की भी आलोचना की. कांग्रेस कार्य समिति की बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ अलग थलग पड़े निराश लोग सरकार के खिलाफ अफवाह फैलाने में लगे हुए हैं. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से इस तरह के दुष्प्रचार से प्रभावी ढंग से निपटने को कहा. योगगुरू बाबा रामदेव और टीम अन्ना की ओर इशारा करते हुए श्री सिंह ने कहा कि प्रतिदिन लोगों को कालाधन के बारे में सुनने को मिलता है जो दूसरे देश से एक बार में लाया जा सकता है. इतना ही नहीं झूठे अफवाह के तहत यह भी कहा जा रहा है कि हमारी सरकार ने प्रत्येक क्षेत्र में अविश्वसनीय धनराशि की लूट की है. जबकि सच्चाई यह है कि हमारी सरकार सार्वजनिक जीवन से भ्रष्टाचार की बुराई से सख्ती से निपटने और सरकार के कामकाज में पारदर्शिता एवं जवाबदेही लाने को प्रतिबद्ध है.

श्री सिंह ने कहा कि इस संबंध में अलग थलग पड़े और निराश तत्व गलत सूचना फैला रहे हैं और केवल हमारी सरकार का विरोध करने के लिए एक साथ आए हैं. इनसे प्रभावी ढंग से निपटने की जरूरत है. उन्होंने कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं से लोगों को इन अफवाहों और गलत बातों के प्रति जागरूक बनाने का आह्वान किया.

Related Posts: