शेहला हत्याकांड: कत्ल के बाद विधायक को भेजे एसएमएस

भोपाल, 4 मार्च. शेहला मसूद हत्याकांड में बीजेपी विधायक ध्रुवनारायण सिंह पर सीबीआई ने अपना शिकंजा कस लिया है. उनके सरकारी निवास पर सीबीआई की टीम छापे मार रही है. मिल रही खबरों के मुताबिक उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है. इस मामले में उनकी पार्टी बीजेपी पूरी तरह बचाव की मुद्रा में दिख रही है.

जांच एजेंसी का कहना है कि ध्रुवनारायण सिंह और उनके करीबी संजय गुप्ता के बयानों में फर्क है. शेहला की हत्या के बाद जाहिदा ने बीजेपी विधायक को एसएमएम भेजे थे. ऐसे में सीबीआई बीजेपी विधायक से फिर पूछताछ कर सकती है. सीबीआई सूत्रों का दावा है कि जाहिदा ने अपने मंसूबों की जानकारी ध्रुव को दे दी थी. यहां तक कि उसने कई बार एसएमएस के जरिए विधायक सिंह को बता दिया था कि शेहला और सिंह की बढ़ती नजदीकियों से वह खुश नहीं है. सिंह को पाने के लिए वह किसी भी हद तक जा सकती है. सिंह इन एसएमएस के जवाब नहीं देते थे.

विधायक ने दिए थे डेढ़ करोड़- सीबीआई द्वारा पूछताछ में सबा ने शेहला और जाहिदा के आपसी झगड़े का भी खुलासा किया. उसने सीबीआई को बताया कि ध्रुवनारायण सिंह ने जाहिदा को कारोबार शुरू करने के लिए डेढ़ करोड़ रुपए दिए थे. जाहिदा ने ध्रुव को कुछ रुपए लौटाए भी, लेकिन जब उसे पता लगा कि शेहला को भी ध्रुव ने बड़ी रकम दी है तो उसने रुपए लौटाने बंद कर दिए. उधर शेहला भी यही चाहती थी कि पहले जाहिदा रकम लौटाए. इस बात ने जाहिदा और शेहला के संबंधों में और कड़वाहट घोल दी.

जाहिदा के घर रची साजिश
शेहला मसूद की हत्या की साजिश जाहिदा परवेज के कोहेफिजा स्थित बीडीए कॉलोनी के मकान नंबर 34 में रची गई थी. सीबीआई की पूछताछ में जाहिदा की सहेली सबा ने इस बात का खुलासा किया है कि यही वो मकान है, जहां हत्यारे आकर ठहरे थे. यहीं पर रहकर उन्होंने वारदात को अंजाम देने के लिए रेकी की. इस खुलासे के बाद सीबीआई की टीम ने इस घर की तलाशी ली. सीबीआई ने यहां से बरामद कुछ चींजे फॉरेंसिक जांच के लिए भी भेजी हैं.

झा ने किया बचाव

देवास. मामले में भाजपा विधायक ध्रुवनारायणसिंह का बचाव करते हुए प्रदेशाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा- सीबीआई ने अभी केवल पूछताछ की है, और पूछताछ किसी से भी की जा सकती है. न्यायालय में यदि ध्रुव पर यदि आरोप साबित होते हैं तो पार्टी उचित निर्णय लेगी.

जाहिदा ने नौकर से कराई थी रेकी
शेहला मसूद की हत्या से पहले जाहिदा परवेज ने अपने नैाकर की मदद से रेकी कराई थी. यह खुलासा नौकर अनिल नेगी ने निजी चैनलों से किया है. जाहिदा के पति असद परवेज के पेट्रोल पंप पर पिछले आठ वर्षो से नेगी नौकर है. उसने बताया कि भारतीय जनता पाटी के विधायक ध्रुवनारायण सिंह का जाहिदा के दफ्तर में आना जाना था. इसके अलावा जाहिदा ने विधायक के बारे में जानकारी जुटाने के लिए नेगी को उनके घर भी भेजा था. इतना ही नहीं शेहला के घर तक भी उसे भेजा था. इसके अलावा शाहिद नाम के एक व्यक्ति को भी शेहला का घर नेगी ने ही दिखाया था.

कार- मोटरसाइकिल की फोरेंसिक जांच
हत्या के दौरान उपयोग में लाई गई मोटर साइकिल व सुपारी की राशि का सौदा जिस इंडिका कार में हुआ था उसकी फोरेंसिक जांच कराई जा रही है.

Related Posts: