• आईपीएल-5

बेंगलूर. 25 अप्रैल. गत उपविजेता रायल चैलेंजर्स बेंगलूर और गत विजेता चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच पांच में आज यहां एम. चिन्नास्वामी मैदान पर खेले जाना वाला मैच भारी बारिश के कारण बिना कोई गेंद फेंके रद्द हो गया. इस मैच से दोनों टीमों को एक-एक अंक मिला और बेंगलूर की टीम नौ अंकों के साथ शीर्ष चार में पहुंच गयी.

आईपीएल पांच में यह दूसरा मौका है जब किसी मैच को बारिश के कारण रद्द घोषित किया गया है. इससे पहले मंगलवार को कोलकाता में कोलकाता नाइटराइडर्स और डेक्कन चार्जर्स के बीच मैच बारिश की भेंट चढ गया था. सुपरकिंग्स और चैलेंजर्स के बीच मुकाबले को देखने के लिए चिन्नास्वामी स्टेडियम में दर्शकों की भारी भीड उमडी थी. लेकिन बारिश के कारण टास एक घंटे देर से हुआ. हल्की फुल्की चोट से जूझ रहे चैलेंजर्स के नियमित कप्तान डेनियल वेट्टोरी की जगह विराट कोहली टास के लिए पहुंचे और उन्होंने टास जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया.

लेकिन इसके बाद बारिश फिर तेज हो गयी और फिर खेल संभव नहीं हो पाया. हालांकि दर्शक मैदान पर डटे हुए थे. उन्होंने उम्मीद थी कि कम से कम प्रति पारी पांच ओवर का मैच हो सकता है. लेकिन अंपायरों ने रात 11 बजे मैदान का मुआयना करने के बाद मैच रद्द करने की औपचारिक घोषणा कर दी. इस मैच के बाद बेंगलूर के आठ मैचों से नौ अंक हो गए हैं और वह अंकतालिका में दिल्ली डेयरडेविल्स, कोलकाता नाइटराइडर्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बाद चौथे नंबर पर आ गयी है. सुपरकिंग्स के भी आठ मैचों से नौ अंक हैं लेकिन वह बेहतर औसत के आधार पर चैलेंजर्स से ऊपर है.

टीम के सबसे बड़े विलेन का कप्तान ने किया बचाव

मोहाली, 26 अप्रैल. मोहाली के मैदान में मुंबई इंडियंस के साथ कड़े मुकाबले में मैच गवांने के बावजूद किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट ने अपने गेंदबाज पीयूष चावला का बचाव किया है.

एडम गिलक्रिस्ट पंजाब के कप्तान हैं, लेकिन फ्लिहाल हैम्स्ट्रिंग की चोट के कारण टीम से बाहर होने के कारण डेविड हसी को उनके स्थान पर टीम की कप्तानी सौंपी गई है. गौरतलब है कि किंग्स इलेवन ने विपक्षी टीम को कड़ा मुकाबला देते हुए 169 रनों का लक्ष्य दिया था, लेकिन बेहद महत्वपूर्ण 19वें ओवर में पीयूष चावला ने अपनी ढीली गेंदबाजी से मुंबई के बल्लेबाजों को रन बनाने का आसान मौका दे दिया. अकेले 19वें ओवर में 27 रन देकर पीयूष ने किंग्स के हिस्से की जीत मुंबई की झोली में डाल दी. हालांकि गिलक्रिस्ट ने कड़े मुकाबले के बावजूद मिली हार के लिए पीयूष चावला की आलोचना करने की बजाय एक अनुभवी और जिम्मेदार कप्तान होने का परिचय देते हुए मुंबई के बल्लेबाज रॉबिन पीटरसन को जीत का श्रेय दिया.

उन्होंने कहा, हमें सकारात्मक क्रिकेट खेलने की जरूरत है. मेरे हिसाब से पीटरसन ने काफी बढिय़ा पारी खेली और पीयूष के ओवरों में उन्होंने रिवर्स हिट शॉट्स में गेंद को बांउड्री तक पहुंचा दिया. गिलक्रिस्ट की अनुपस्थिति में अस्थायी रूप से कप्तानी संभाल रहे डेविड हसी के पीयूष चावला को आखिरी ओवर देने के निर्णय के बारे में गिली ने कहा कि जब आप मजबूत स्थिति में होते हैं तो आप अपने सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों को ही उतारना चाहते हों. चावला ने टूर्नामेंट के पिछले मैचों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और उन्हें आगामी टूर्नामेंट के बारे में सोचने की जरूरत है. उन्होंने कहा, मेरी अनुपस्थिति में डेविड ने बहुत अच्छे से कप्तानी का भार संभाला है और जिस तरह से ट्वेंटी-20 टूर्नामेंट खेला जा रहा है किसी भी बड़े स्कोर का पीछा करना यहां मुश्किल नहीं है. बल्लेबाज ने कहा कि मुंबई के बल्लेबाजों पीटरसन, अबाती रायूडु और रोहित शर्मा ने शानदार प्रदर्शन किया और उन्हीं के कारण मुंबई को यह जीत हासिल हुई है. हालांकि गिलक्रिस्ट ने कहा कि अभी भी उनकी टीम को टूर्नामेंट मे कई मैच खेलने हैं और उन्हें उम्मीद है कि टीम का प्रदर्शन आगामी मुकाबलों में बेहतरीन होगा.

मुंबई के पलटवार से दिल्ली को रहना होगा सतर्क

नई दिल्ली, 26 अप्रैल. चोटी पर चल रहे दिल्ली डेयरडेविल्स के जांबाजों को शुक्रवार को यहां फिरोजशाह कोटला मैदान पर होने वाले आईपीएल मैच में मुंबई इंडियन्स के पलटवार से सतर्क रहना होगा जिसने मोहली में पंजाब से जीत छीन ली थी.

दिल्ली इस समय 10 अंकों के साथ आईपीएल पांच की तालिका में चोटी पर मौजूद है. मुंबई के खाते में बुधवार की जीत के बाद आठ अंक हो गए हैं. मुंबई के बल्लेबाजों ने पंजाब के खिलाफ मैच में एक ओवर में हारी हुई बाजी जीत ली थी. दिल्ली और मुंबई के बीच हुए पिछले मुकाबले में वीरेंद्र सहवाग के धुरधंरों ने मुंबई को उसी के मैदान में 92 रन पर घेरकर आसान जीत हासिल की थी. कप्तान हरभजन सिंह के इंडियन्स उस हार का बदला लेने के लिए बेताब हैं और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के लौटने से उनकी टीम का हौंसला और भी बुलंद हो गया है. दिल्ली ने कोटला में खेला अपना पिछला मैच पुणे वॉरियर्स से गंवाया था लेकिन फिर उसने पुणे को उसी के मैदान में कप्तान वीरू की दबंगई पारी से करारी शिकस्त दी थी.

वीरू ने जिस तरह पुणे के खिलाफ धमाकेदार मैच विजई पारी खेली थी वह मुंबई इंडियन्स की नींद उड़ाने के लिए काफी होगी. दिल्ली का यह दबंग यदि शुक्रवार को एक और ऐसी पारी खेल जाता है तो डेयरडेविल्स को जीतने से कोई नहीं रोक सकता है. यह मैच जीतने की स्थिति में डेयरडेविल्स एलिमिनेशन राउंड की तरफ कदम बढा देंगी. वीरू के साथ-साथ केविन पीटरसन भी एक और जोरदार पारी खेलने को बेताब होंगे. उन्होंने इसी मैदान पर नौ छक्के उड़ाते हुए शानदार शतक लगाया था. पीटरसन का बल्ला चला तो मुंबई के गेंदबाजों की खैर नहीं. टीम के अन्य स्टार बल्लेबाज माहेला जयवर्धने भी एक जोरदार पारी खेलने के लिए बेताब दिखाई दे रहे हैं. दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही सशक्त हैं और पुणे को जिस अंदाज में दिल्ली ने हराया था उसे देखकर कहा जा सकता है कि वीरू अपनी अंतिम एकादश में कोई परिवर्तन नहीं करेंगे.  दूसरी तरफ मुंबई ने बुधवार को मोहाली में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ एक गेंद शेष रहते रोमांचक जीत हासिल की थी.

मैच के 18वें ओवर तक जीत पंजाब की झोली में नजर आ रही थी लेकिन 19वें ओवर में पीयूष चावला की गेंदों पर अंबाती रायूडु और रोबिन पीटरसन ने 27 रन उड़ाते हुए पंजाब के हाथों आई जीत छीन ली. यह जीत मुंबई के लिए एक टॉनिक का काम करेगी और वे ऊंचे मनोबल के साथ दिल्ली के खिलाफ मुकाबले में उतरेंगे. सचिन की मौजूदगी ने मुंबई को नया आत्मविश्वास दे दिया है. माना जा रहा है कि टीम के श्रीलंकाई तेज गेंदबाज लसित मलिंगा अपनी पीठ की परेशानी से उबरकर भारत लौट आए हैं और संभवत: वह शुक्रवार के मैच में उतर सकते हैं. लेकिन इसके लिए यह देखना होगा कि वह पूरी तरह मैच फिट हैं या नहीं. कप्तान हरभजन सिंह चाहेंगे कि कोटला मैदान में कई यादगार पारियां खेलने वाले सचिन एक और यादगार पारी खेलें.

साथ ही मुंबई की टीम अपने विस्फोटक ऑलराउंडर कीरोन पोलार्ड से एक धमाकेदार पारी की उम्मीद करेगी. दिल्ली और मुंबई के बीच विस्फोटक मुकाबला देखने के लिए कोटला में फिर हाउसफुल रहने की उम्मीद है. कोटला में पिछले सभी मैच हाउसफुल रहे थे. दोनों टीमों की नजरें साथ ही मौसम पर भी बनी रहेंगी. दिल्ली का मौसम भी कुछ आंख मिचौली खेल रहा है. शाम होते होते हवाएं चलने लगती हैं और बूंदा बांदी भी शुरू हो जाती है. ऐसे में टॉस जीतने वाली टीम मौसम को ध्यान में रखकर कोई फैसला करेगी. मैच में परिणाम कोई भी निकले लेकिन दिल्ली के दिलवाले वीरू और उनके गुरू सचिन के बल्ले से विस्फोटक पारी की उम्मीद में कोटला में उतरेंगे.

आईपीएल को मिले जगह

नयी दिल्ली.26 अप्रैल. पूर्व भारतीय कप्तान अजीत वाडेकर ने आज कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग जिस तरह युवा खिलाडिय़ों को अंतरराष्ट्रीय मंच प्रदान कर रहा है उसे देखते हुए इस टवंटी 20 क्रिकेट टूर्नामेंट को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद.आईसीसी. के कैलेंडर में विंडो दी जानी चाहिए.

वाडेकर ने यहां संवाददाताओं से कहा आईपीएल युवा प्रतिभाओं को पहचान दिलाने में एक अच्छा काम कर रही है और साथ ही यह क्रिकेट को प्रोत्साहन देने के लिए भी वित्तीय साधन जुटाने का काम भी कर रही है. यह एक महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है और इसे आईसीसी कैलेंडर में विंडो मिलनी चाहिए. उन्होंने कहा आईसीसी कैलेंडर में विंडो मिलने से दूसरे देशों के वे खिलाड़ी भी इसमें खेल सकेंगे जो इस दौरान अपनी राष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं के कारण इसमें नहीं खेल पाते हैं. उदाहरण के लिए इस समय आस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज की टेस्ट सीरीज चल रही है जिसके कारण इन दोनों टीमों के कई खिलाड़ी अब तक आईपीएल से दूर हैं. उल्लेखनीय है कि आस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज लेग स्पिनर शेन वार्न पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग और श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा सहित कई अंतरराष्ट्रीय खिलाडिय़ों ने बराबर यह मांग उठाई है कि आईपीएल को आईसीसी कैलेंडर में विंडो दी जाए.

Related Posts: