नयी दिल्ली, 5 अक्टूबर. संसद के शीतकालीन सत्र में केंद्र की संप्रग सरकार पर भ्रष्टाचार और बढती महंगाई के मुद्दों पर दबाव बनाने के मकसद से भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी 11 अक्टूबर से 20 नवंबर तक सुशासन और स्वच्छ राजनीति के लिये देश भर में जनचेतना यात्रा निकालेंगे.

श्री आडवाणी की इस यात्रा के संयोजक अनंत कुमार और सह संयोजक रविशंकर प्रसाद ने बताया कि 38 दिनों में यह यात्रा 23 राज्यों और चार केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेगी. छह चरणो में पूरी होने वाली इस यात्रा के बीच में दिवाली के कारण तीन दिन का विश्राम रहेगा. इस दौरान देश के दूरराज इलाकों तक पहुंचने के लिये श्री आडवाणी बीच बीच में हवाई मार्ग का सहारा भी लेंगे . श्री कुमार ने यात्रा के विस्तृत कार्यक्रम की जानकारी देते हुये बताया कि श्री आडवाणी की यात्रा उत्तरप्रदेश और बिहार की सीमा पर स्थित लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जन्म स्थली सिताब दियारा से उनके जन्मदिन 11 अक्टूबर को रवाना होगी. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हरी झंडी दिखाकर यात्रा को रवाना करेंगे. उसी दिन पटना में पहली रैली होगी जिसमें लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरूण जेटली, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के संयोजक शरद यादव और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद रहेंगे.

यह पूछे जाने पर श्री आडवाणी अयोध्या क्यों नही जा रहे जहां रामजन्मभूमि मंदिर के निर्माण के लिये उन्होंने अपनी पहली रथयात्रा निकाली थी श्री कुमार ने कहा कि राम मंदिर के लिये उच्च न्यायालय में हम जीत चुके है और उच्चतम न्यायालय में जीतने की उम्मीद करते हैं. यह ध्यान दिलाने पर कि संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने उच्च न्यायालय के निर्णय पर कहा था कि इसे हार जीत के रूप में नही देखा जाना चाहिये श्री कुमार इस प्रश्न को टाल गये.  उत्तर प्रदेश में यात्रा की अवधि कम होने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 13 अक्टूबर से वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह मथुरा और कलराज मिश्र वाराणसी से यात्रा निकालने जा रहे है. श्री आडवाणी वाराणसी में श्री मिश्र की यात्रा को हरी झंडी दिखायेंगे. उन्होंने बताया कि श्री आडवाणी हवाई मार्ग से पूर्वोत्तर और उत्तर के राज्यों में और अंडमान निकोबार जायेंगे. अपनी यात्रा के दौरान वह 4600 किलोमीटर का सफर तय करेंगे. उनके लिये हर बार की तरह एक बस को रथ के रूप में तैयार किया जा रहा है जिसमें एक लिफ्ट भी जिसे वह बस के उपर पहुंच कर नुक्कड सभाओं को संबोधित करेंगे. श्री कुमार ने बताया कि श्री आडवाणी हर रोज तीन-चार बड़ी सभाओं को संबोधित करेंगे.

सवेरे दस बजे से लेकर रात दस बजे तक उनकी यात्रा चलेगी जिसमें वह अपने गंतव्य स्थान तक पहुंचने के लिये छह सात घंटे रोजाना सफर करेंगे. उनकी यात्रा का मकसद नकारात्मक नहीं होगा. इस दौरान किसी की पोल नही खोली जायेगी और न ही कोई भंडाफोड होगा. इसका मकसद केवल सुशासन और स्वच्छ राजनीति के लिये लोकपाल के गठन लोकसेवा गारंटी कानून और विदेशों में जमा काला धन की वापसी के लिये सशक्त कानून बनाने पर जोर देना होगा. जानेमाने सामाजिक कार्यकर्ता अन्न हजारे द्वारा कांग्रेस का विरोध किये जाने को भाजपा के हित में बताये जाने पर उन्होंने कहा कि भाजपा का अपने बलबूते पर भ्रष्टाचार और महंगाई के मुद्दे पर सरकार से लड़ रही है. अगर कोई और इस तरह की बुराई के खिलाफ अभियान चलाता है या जनजागरण करता है तो भाजपा उसका स्वागत करेगी. एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री अपने अपने राज्यों में इस यात्रा की आगवानी करेंगे. यह पूछने पर कि क्या 20 नवंबर यात्रा की समापन रैली में भाजपा और उसके सहयोगी दलों द्वारा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी हिस्सा लेंगे उन्होंने कहा कि अभी इस रैली के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है.

  • 13 से मध्यप्रदेश में

नयी दिल्ली. भाजपा के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी की रथयात्रा 13 अक्टूबर को मध्यप्रदेश के रीवा में प्रवेश करेगी. सतना, जबलपुर, होशंगाबाद, छिंदवाड़ा में संवाददाता सम्मेलन होगा. जबकि रीवा, सतना, उमरिया, शाहपुरा, जबलपुर, होशंगाबाद, छिंदवाड़ा में सभा आयोजित की जाएगी. जबकि अन्य जगहों पर स्वागत किया जाएगा. 13 को यह हनुमाना, मउगंज, रीवा और सतना को जाएगी. यह इस दिन सतना में ही रूकेगी. इसके बाद 14 को सतना में संवाददाता सम्मेलन होगा. इसके बाद मैहर में प्रवेश कर जाएगी. मइहार के बाद उमरिया, शाहपुर व जबलपुर में प्रवेश करेगी. 15 अक्टूबर को जबलपुर में संवाददाता सम्मेलन के बाद यह यात्रा आग बढ़ेगी. गोटेगांव, नरसिंहपुर, करेली, गदरबारा, पीपरिया, सुहागपुर, होशंगाबाद जाएगी. 16 अक्टूबर को होशंगाबाद से निकलने के बाद निकलकर भोपाल पहुंचेगी. भोपाल में सभा के बाद आडवाणी हेलीकॉप्टर से छिंदवाड़ा पहुंचेगी. 16 को छिंदवाड़ा में सभा होगी. 17 को छिंदवाड़ा में संवाददाता सम्मेलन के बाद वे रथ से नागपुर के लिए रवाना हो जाएंगे.

Related Posts: