आष्टा में मुख्यमंत्री ने की घोषणा, आष्टा को नवाजा सौगातों से

सीहोर/आष्टा 6 जनवरी नससे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज सीहोर जिले के विकासखंड मुख्यालय आष्टा पहुंचे जहां उन्होंने यहां स्टेडियम ग्राउंड में आयोजित विकास सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश को सुखी और समृद्ध राज्य बनाया जाएगा। उन्होंने यहां विभिन्न योजनाओं के तहत 21 हजार हितग्राहियों को 41 करोड़ की राशि वितरित की वहीं आष्टा को विकास योजनाओं की अनेक सौगातें प्रदान की।

विकास सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, लाड़ली लक्ष्मी योजना और गांव की बेटी जैसी अनेक योजनाओं के हवाले से बताया कि प्रदेश में इन योजनाओं के क्रियान्वयन से सामाजिक बदलाव की स्थिति निर्मित हुई है। उन्होंने बेटी बचाओ आंदोलन के सिलसिले में कहा कि बेटी आफत नहीं हैं और न ही पराया धन है बल्कि बेटियां ईश्वर की ऐसी नेमत है जिससे संसार गतिमान होता है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार इन बात पर गंभीरता से विचार कर रही है कि साठ वर्ष आयु वर्ग के जिन भी माता पिताओं की दो बेटियां होंगी उन्हें प्रदेश सरकार की ओर से पेंशन मंजूर की जाएगी। उन्होंने यहां बेटी बचाओ अभियान के संकल्प को आगे बढाते हुए कन्या पूजन किया।

विकास कार्यों का लोकार्पण- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने यहां 38 लाख 77 हजार के पांच माध्यमिक शाला भवनों का लोकार्पण किया। इसके अलावा उन्होंने यहां चार करोड 90 लाख 97 हजार के विकास कार्यो की आधारशिला रखी जिसमें नल-जल योजना, शासकीय हाई स्कूल धुराडाकला, 33/11 के.व्ही. के विद्युत उपकेन्द्र मेहतवाड़ा आदि शामिल है। आष्टा को अनेक सौगातें- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज आष्टा को अनेक सौगातों से नवाजा। उन्होंने आष्टा चिकित्सालय को सौ बिस्तरों का करने, रामपुरा डेम से सीधे पाइप लाइन द्वारा पानी प्रदाय करने, मण्डी सडक के चौडीकरण, आनंदपुर के रास्ते पर पुल निर्माण और सड़क विहीन गांवों को मुख्य मार्ग से जोड़े जाने के कार्यों को मंजूरी दी। जावर सहित अन्य गांवों में कन्या हायर सेकेण्डरी खोले जाने के सवाल पर उन्होंने साफ तौर पर कहा कि आवश्यकतानुसार हर जगह स्कूलों के उन्नयन करने की योजना तैयार की गई है जिसके चलते यहां भी स्कूलो को योजना के मुताबिक उन्नत कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो भी बेहतर हो सकेगा वह आष्टा के लिए किया जाएगा।

सिस्टम में सुधार- मुख्यमंत्री ने कहा कि सिस्टम में सुधार लाने की गुंजाइशों को तलाशा जाकर मध्यप्रदेश में शासन को जवाबदेह बनाया गया है जिसके चलते लोक सेवा गारंटी अधिनियम अस्तित्व में लाया गया। इसी तरह सूचना का अधिकार भी लागू किया गया है जिससे जवावदेही की स्थिति को मजबूती मिली है। बिजली की स्थिति पर उन्होंने कहा कि मैं बिजली कब आई और कब गई जैसे हालातों को बदल देना चाहता हूं। अस्पताल का निरीक्षण- मुख्यमंत्री आज अचानक आष्टा अस्पताल पहुंचे जहां निरीक्षण के दौरान उन्होंने अस्पताल भवन और वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने मरीजों से मुलाकात कर उनके  हालचाल जानने के साथ ही मिल रही सुविधाओं की जानकारी हासिल की। उन्होंने चिकित्सकों को हिदायत दी कि जननी सुरक्षा योजना में किसी तरह की कोई कोताही नहीं बरती जाय। उन्होंने चिकित्सालय में एक्स-रे की बड़ी मशीन लगाने की भी ताकीद की। जबावदारी निभाऊंगा इस अवसर पर प्रदेश सरकार के आदिमजाति कल्याण मंत्री श्री विजय शाह ने मुख्यमंत्री द्वारा उन्हें सीहोर जिले का प्रभारी मंत्री बनाए जाने के सिलसिले में कहा कि मुख्य मंत्री ने जो जवाबदारी उन्हें सौंपी है उसे वे पूरे संकल्पित भाव से निभाएंगे। उन्होंने कहा कि जिले के विकास में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

Related Posts: