विनोबा नगर के शासकीय माध्यमिक स्कूल की घटना, अधिकारियों ने बनाया पंचनामा

बैतूल, 14 नवम्बर नससे. आज बाल दिवस के अवसर पर पूरे देश में बच्चों के लिए विभिन्न तरह के आयोजन किए गए हैं और उन्हें व्यंजन खिलाए गए लेकिन शहर के विनोबा नगर स्थित एक सरकारी स्कूल में माध्यमिक स्तर के बच्चों को मध्यान्ह भोजन में इल्ली लगी दाल परोसने से हंगामा खड़ा हो गया.

विनोबा नगर स्थित शासकीय माध्यमिक विद्यालय में आज सुबह अध्ययनरत विद्यार्थियों को मध्यान्ह भोजन परोसने के लिए बनाई गई दाल में इल्लियां निकलने पर विद्यार्थियों में असमंजस की स्थिति पैदा हो गई और इस मामले की सूचना लगते ही सीएसी अनिल मरवाह ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा बनाते हुए बनाई गई दाल अलग करवा दी और पाया कि दाल में इल्लियां तैरती हुई स्पष्ट रूप से दिखाई दे रही है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक विनोबा नगर में स्थित जयश्री अन्नपूर्णा स्वसहायता समूह को माध्यमिक शाला में मध्यान्ह भोजन बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है और स्वसहायता समूह की लापरवाही के चलते बच्चों के लिए इल्ली लगी हुई दाल बना दी गई और जैसे ही यह दाल बनकर बच्चों के सामने पहुंची.

दाल में स्पष्ट रूप से इल्लियां तैरती हुई दिखाई देने पर कुछ बच्चों ने इसकी शिकायत शिक्षकों से की और मामला सामने आते ही स्कूल की प्राचार्या श्रीमती वर्मा ने इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए इसकी शिकायत शाला के सीएसी से की जिन्होंने मौके पर पहुंचकर पंचनामे की कार्रवाई की है. विदित हो कि स्वसहायता समूहों को मध्यान्ह भोजन की जिम्मेदारी दिए जाने के चलते ऐसे मामले अधिकांश रूप से सामने आ रहे हैं कि बच्चों की जान की परवाह न करते हुए खराब अनाज से बना हुआ भोजन विद्यार्थियों को खिलाया जा रहा है, कुछ दिनों पूर्व ही भीमपुर विकासखंड में भी इसी तरह की घटना सामने आई थी जहां मध्यान्ह भोजन के अंतर्गत बच्चों को जली हुई और फंगस युक्त रोटियां खिलाई जा रही थी. जिसकी शिकायत जनसुनवाई के माध्यम से जिला पंचायत सदस्य काशीराम पांसे ने कलेक्टर बी. चंद्रशेखर से की थी और इस मामले के उजागर होने को महीना भर भी नहीं बीता था कि शहरी क्षेत्र में ही स्थित माध्यमिक स्कूल में एक बार फिर इस तरह की घटना सामने आ गई.

Related Posts: