7 रन से मुकाबला हारी धोनी की टीम

चेन्नई, 28 अप्रैल, ए. सलामी बल्लेबाज मंदीप सिंह (56) की शानदार अर्धशतकीय पारी के बाद अजहर महमूद (3/25) की खतरनाक गेंदबाजी के आगे गत चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स टीम आईपीएल-पांच के 37वें मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब के दिए लक्ष्य को पार नहीं कर सकी और सात रनों से मुकाबला हार गई.

चेपक में हुए मुकाबले में पंजाब ने सिर्फ दो विकेट खोकर 100 रन बनाए थे लेकिन अंतिम ओवरों में लगातार विकेट खोने के कारण पंजाब 20 ओवर में आठ विकेट पर 156 रन बना सका. जवाब में चेन्नई ने 20 ओवर में आठ विकेट पर 149 रन ही बना पाया. पंजाब के दो विकेट चटकाने वाले ड्वेन ब्रावो ने मात्र 21 गेंदों में 30 रन (2 छक्का) रन बनाकर सर्वाधिक पारी खेली. चेन्नई की तरफ से एल्बी मोर्कल ने 29 रन देकर तीन व ब्रावो ने दो विकेट चटकाए. जबकि पंजाब के लिए अजहर महमूद ने तीन और पीयूष चावला ने दो विकेट झटके. चेन्नई ने इस टूर्नामेंट में अभी तक नौ मैच खेले हैं जिनमें से उसे चार में जीत, चार में हार मिली है और एक मैच टाई रहा. वहीं पंजाब ने अभी तक नौ मैच खेले हैं जिसमें से उसे चार में जीत मिली जबकि पांच में हार. हार के बावजूद चेन्नई अंक तालिका में तीसरे स्थान पर बना हुआ है. जबकि पंजाब आठवें स्थान पर बना हुआ है.  जवाब में चेन्नई को अच्छी शुरुआत मिली और पहले विकेट के लिए फैफ डु प्लेसिस और एस बद्रीनाथ ने एक बार फिर बढिय़ा बल्लेबाजी करते हुए टीम का स्कोर 5.3 ओवर में 47 रनों तक पहुंचा दिया.

लेकिन टूर्नामेंट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे पंजाब के तेज गेंदबाज अजहर महमूद ने छठवें ओवर की तीसरी गेंद पर प्लेसिस (29) को काटएंडबोल्ड कर टीम को पहली सफलता दिला दी. प्लेसिस ने छोटी सी किंतु आतिशी बल्लेबाजी करते हुए 20 गेंदों में तीन चौका व दो छक्के के दम पर 29 रन बनाए. महमूद ने अपने अगले ओवर में बद्रीनाथ को भी कैच आउट कराकर जोरदार झटका दिया. चेन्नई दोहरे झटके से उबरने की कोशिश करता रहा. लेकिन कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहा. पीयूष चावला ने सुरेश रैना (15) को बेहतरीन गेंद पर स्टंप कर चलता किया. इसके बाद रिदिमान साहा मात्र छह रन बनाकर डेविड हसी की गेंद पर बोल्ड हो गए. इसी बीच कप्तान धोनी एक रन बनाने के बाद एक शाट खेलने के बाद क्रीज से काफी आगे निकल गए और विकेटकीपर सैनी ने उन्हें शानदार प्रयास में रन आउट कर दिया. चेन्नई का विकेट लगातार गिर रहा था अगला विकेट रविंद्र जडेजा का गिरा जो 11 गेंदों में एक चौका व एक छक्का (17 रन) जमाकर आक्रामक मूड में दिख रहे थे उन्हें चावला ने कैच आउट कराया. सौ रन पूर्व 15 ओवर में शीर्ष क्रम के छह बल्लेबाज खोने से टीम लक्ष्य से बेहद दूर नजर आई. 19वें ओवर में प्रवीण कुमार ने ड्वेन ब्रावो को कैच आउट कराकर चलता किया.

इससे पूर्व टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लेने के बाद मंदीप और शान मार्श ने टीम को बेहतरीन शुरुआत दिलाई और सात ओवर में ही पचास रन जोड़ लिए. दोनों ने पहले विकेट के लिए आठ ओवर में 68 रनों की साझेदारी की थी लेकिन नौवें ओवर की पहली गेंद पर रन लेने में हुई गफलत के कारण मार्श रन आउट हो गए. मार्श ने पिछले ओवर में शादाब जकाती की गेंद पर छक्का जमाने के बाद लगातार दो चौके भी जमाए. मार्श ने अपनी पारी में 22 गेंदों में 32 रन (4 चौका व 1 छक्का) बनाए. मंदीप का साथ देने के लिए अजहर महमूद को ऊपर भेजा गया. महमूद ने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए रविंद्र जडेजा की लगातार गेंदों पर दो करारे छक्के जड़ दिए. लेकिन 12 गेंदों पर 18 रन बनाने के बाद ड्वेन ब्रावो की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए. एक छोर पर टिके मंदीप का साथ देने डेविड मिलर आए और 15 गेंदों में 19 (2 चौका) रन बनाने के बाद 16वें ओवर में एल्बी मोर्कल की गेंद पर विकेटकीपर धोनी के हाथों कैच आउट हो गए. अगले ओवर में ब्रावो ने मंदीप को लांग आफ पर सीमा रेखा के पास कैच आउट कराया. पंजाब अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा सका और नियमित अंतराल पर विकेट गंवाने से बड़ा स्कोर करने की मंशा पर पानी फिर गया. 18वें ओवर में मोर्कल ने तीन गेंद के अंदर कप्तान डेविड हसी (7) और पीयूष चावला (0) को पवेलियन की राह दिखाकर पंजाब को जोर का झटका दे दिया. पंजाब ने 21 रन पर पांच विकेट गंवा दिए.

दिल्ली के दबंगों से मुंबई इंडियंस हारा

नई दिल्ली. कप्तान वीरेंद्र सहवाग (73) की महेला जयवर्धने (55) के साथ 135 रनों की नायाब साझेदारी और अंतिम ओवरों में केविन पीटरसन (नाबाद 50 रन, 25 गेंद) की धुआंधार पारी की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स आईपीएल-पांच के 36वें मुकाबले में मुंबई इंडिंयस के सामने 208 रनों का विशाल लक्ष्य रख पाने में सफल रहा. 

जवाब में मुंबई की शुरूआत खराब रही और सचिन तेंदुलकर सात रन बनाकर आउट हुये जबकि दिनेश कार्तिक ने और रायडू ने 62 रन की पारी जरूर खेली. एक समय मुंबई के 16 ओवर में 142 रन पर छह बल्लेबाज पवेलियन लौट चुके थे. दिल्ली की तरफ से इरफान पठान, नदीम और मोरकल, उमेश यादव और अजीत अगरकर ने मुंबई के बल्लेबाजों को जमने नहीं दिया और मुंबई की टीम 20 ओवर में 9 विकेट पर 170 रन ही बना सकी. इस प्रकार दिल्ली ने इस मैच को 37 रन से जीत लिया. फिरोजशाह कोटला मैदान पर बेहतरीन शुरुआत का फायदा दिल्ली ने उठाया और 20 ओवर में पांच विकेट पर 207 रन बना लिए. सहवाग ने लगातार तीसरा पचासा जमाते हुए मात्र 39 गेंदों में आठ चौके व चार छक्के के साथ 73 रनों की पारी खेली. जबकि जयवर्धने ने 42 गेंदों में आठ चौके के साथ अर्धशतक लगाया. अंतिम ओवरों में केविन पीटरसन (केपी) ने महज 26 गेंदों में नाबाद अर्धशतक (6 चौका व 3 छक्का) जड़ दिया. मुंबई के लिए राबिन पीटरसन ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए. इससे पूर्व हुए मुकाबले में दिल्ली ने मुंबई को आसानी से हरा दिया था. दिल्ली सात में से पांच मुकाबला जीतकर पहले स्थान पर बना हुआ है जबकि सात में से चार मैच जीतने के बावजूद रन रेट खराब होने के कारण मुंबई अंक तालिका में सातवें पायदान पर है. पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद जयवर्धने ने सहवाग के साथ जोरदार बल्लेबाजी करते हुए टीम को बेहतरीन शुरुआत दिलाई.

हालांकि पहले ओवर में दोनों ने महज एक रन बनाए. बाद में सहवाग फार्म में आ गए और तेजी से रन बटोरने लगे. सहवाग ने 11वें में कीरोन पोलार्ड की गेंद पर दो करारे छक्के व दो चौके जड़ते हुए पचासा ठोक दिया. सहवाग ने 30 गेंदों में टूर्नामेंट में तीसरा पचासा जमाया. सहवाग आईपीएल में लगातार तीन अर्धशतक जमाने वाले तीसरे बल्लेबाज बन गए हैं. कुछ देर बाद जयवर्धने ने भी अपना पचासा (39 गेंद) पूरा किया. हालांकि जयवर्धने पचासा पूरा करने के बाद अगले ओवर में पीटरसन की गेंद पर कैच आउट हो गए. पीटरसन की गेंद पर कैच थमाने के पूर्व जयवर्धने ने 42 गेंदों पर आठ चौके के साथ 55 रन बनाए. जयवर्धने के आउट होने के बाद केविन पीटरसन ने आते ही 15वें ओवर में राजीव शुक्ला पर चौका, छक्का फिर चौका जमाकर अपना आतिशी अंदाज दिखाया. हालांकि अगले यानी 16वें ओवर की पहली गेंद पर पीटरसन ने सहवाग को भी सीमा रेखा के पास आरपी सिंह के हाथों कैच आउट कराया. एक गेंद के अंतराल पर पीटरसन ने इरफान पठान (0) को कैच आउट कराकर दिल्ली को जल्दी-जल्दी तीन झटके दे दिया. इस झटके का केविन पीटरसन पर कोई दबाव नहीं दिखा और रास टेलर के साथ 17वें ओवर में कप्तान हरभजन सिंह की गेंद पर दो छक्का व एक चौका ठोक दिया. दोनों छक्के टेलर ने लगाए. 18वें ओवर में केपी ने पीटरसन की गेंद पर स्विच हिट शाट लगाते हुए दो छक्का और दो चौका जमा दिया लेकिन मलिंगा ने 19वें ओवर की पहली दो गेंदों पर टेलर (15 रन, 7 गेंद, 2 छक्का) और योगेश नागर (0) को पवेलियन भेज दिया जिससे दिल्ली का दो सौ का आंकड़ा 29वें ओवर में पूरा किया.

Related Posts: