भोपाल,25 अप्रैल, राज्य शासन ने रबी मौसम में स्थापित वितरण ट्रांसफार्मर पर अतिरिक्त भार आने से ट्रांसफार्मर खराब होने तथा जलने की शिकायतों को गंभीरता से लिया है. शासन ने अस्थाई तथा स्थाई पम्प कनेक्शनों के अधिकतम भार को ध्यान में रखते हुए वितरण ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाने तथा अतिरिक्त ट्रांसफार्मर स्थापित किये जाने का निर्णय लिया है.

तीनों विद्युत वितरण कम्पनी द्वारा इसके लिये एक कार्य-योजना तैयार की गई है. कार्ययोजना के अनुसार चालू माली साल में 8,805 ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि तथा अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाने पर 252 करोड़ की राशि खर्च की जायेगी. राज्य शासन द्वारा चालू माली साल में करीब 252 करोड़ राशि का प्रणाली सुदृढ़ीकरण के लिये प्रावधान किया गया है. इसमें से पूर्व क्षेत्र कम्पनी को 65 करोड़, मध्य क्षेत्र कम्पनी को 88 करोड़ तथा पश्चिम क्षेत्र कम्पनी को 99 करोड़ की राशि आवंटित की गई है.

इस वर्ष मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी द्वारा वितरण प्रणाली में सुधार तथा उसे मजबूत करने के लिये 3,329 ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाई जायेगी. इस कार्य पर चालू माली साल में 88 करोड़ की राशि खर्च होगी. पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी में करीब 3 हजार ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाने के लिये 99 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी में भी चालू माली साल के लिये इस कार्य की 65 करोड़ रुपये की योजना तैयार की गई है. योजना के अंतर्गत 1400 ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि की जायेगी तथा 1076 नये वितरण ट्रांसफार्मर स्थापित किये जायेंगे.

Related Posts: