कानपुर, 20 फरवरी. उत्तर प्रदेश में लगातार चुनाव प्रचार अभियान चला रहे कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी सोमवार को कानपुर के विभिन्न क्षेत्रों में रोड शो कर रहे हैं।

इस दौरान, राहुल को कानपुर के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में 35 किलोमीटर का रोड शो करना था, लेकिन जिला प्रशासन की तरफ से उन्हें 20 किलोमीटर की ही अनुमित दी गई है। ऐसे में राहुल गांधी के इस रोड शो को लेकर आर-पार की स्थिति हो गई है। इससे नाराज कांग्रेस नेताओं ने जिला प्रशासन पर सत्तारूढ़ दल के दबाव में काम करने आरोप लगाते हुए कहा कि राहुल को जान-बूझ्झकर रोका जा रहा है। सत्तारूढ़ दल को भय है कि राहुल अगर सभी इलाकों में चले गए तो कांग्रेस सभी सीटें जीतेगी। कानपुर में पांचवें चरण के तहत 23 फरवरी को मतदान होना है। राहुल को देखने के लिए सड़कों पर लोगों की भीड़ जुट रही है। राहुल जिस बस से रोड शो कर रहे हैं, उस पर ‘उठो, जागे और बदलोÓ के नारे लिखे हुए हैं। पार्टी कार्यकर्ता जगह-जगह फूल-मालाओं से उनका स्वागत कर रहे हैं। कांग्रेस पदाधिकारियों के मुताबिक, राहुल के रोड शो की शुरुआत अहिरवां इलाके से हुई। अहिरवां के बाद उनका काफिला आर्य नगर पहुंचा। इसके बाद उनका शीशामऊ, किदवई नगर सहित अन्य इलाकों में भी जाने का कार्यक्रम है। बस में खिड़की किनारे की सीट पर बैठे राहुल हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन कर रहे हैं। कहीं-कहीं पर वह खिड़की से हाथ बाहर निकालकर लोगों से मिलाते भी हैं।  राहुल के साथ पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं का हुजूम चल रहा है, जिस कारण कहीं-कहीं यातायात जाम की समस्या आ रही है।

राहुल गांधी मुश्किल में मुकदमा दर्ज

सलमान खुर्शीद और बेनी प्रसाद वर्मा का विवाद थमा भी नहीं कि यूपी में कांग्रेस नए विवाद में फंस गई है। कानपुर में कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उन पर और कुछ स्थानीय कांग्रेसियों पर प्रशासन द्वारा तय रूट के पालन ना करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसकी जानकारी कानपुर के डीएम हरिओम ने दी। गौरतलब है कि कानपुर में राहुल गांधी को सिर्फ 20 किलोमीटर तक रोड शो की इजाजत दी गई थी। उन्हें अपना यह रोड शो सर्किट हाउस से शुरू करना था, लेकिन राहुल गांधी ने एयरपोर्ट से ही रोड शो शुरू कर दिया। डीएम बताया कि महाशिवरात्रि के चलते शहर की सुरक्षा और ट्रैफिक को ध्यान में रखते हुए वैकल्पिक रूट से रोड शो की सलाह दी थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने स्?थानीय प्रशासन की बात नहीं मानी है और सीआरपीसी की धारा-144 और आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है। उनके ऊपर रूट उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है। इस रोड शो के दौरान कांग्रेस महासचिव को विरोधी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा काले झंडे भी दिखाए गए। हालांकि, यूपी में कांग्रेस के सीनियर नेता बेनी प्रसाद वर्मा ने कहा है कि राहुल गांधी और अन्य कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कानून का उल्लंघन नहीं किया है

Related Posts: