15 से 20 रुपये की बढ़ोतरी संभव

Indian_railwayनई दिल्ली, 27 जनवरी. राजधानी, दूरंतो और शताब्दी में यात्रा करना आने वाले समय में कुछ महंगा हो सकता है. खाने-पीने (कैटरिंग) की चीजों के दाम में बढ़ोतरी के मद्देनजर इन प्रमुख रेलगाडिय़ों का किराया और बढऩा लगभग तय है.

निर्णय प्रक्रिया में शामिल रेल विभाग के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, ”राजधानी, शताब्दी और दूरंतो में खान-पान का शुल्क बढऩे के बाद इन प्रमुख रेलगाडिय़ों के किराए में 15 रुपए से लेकर 20 रुपए तक की बढ़ोतरी होगी. रेल मंत्रालय ने इन गाडिय़ों और एक्सप्रेस रेलगाडिय़ों के खाने की सूची और शुल्क में संशोधन पर सुझाव देने के लिए एक समिति का गठन किया था. अधिकारी ने कहा ”शुल्क में संशोधिन का फैसला समिति की सिफारिशों की जांच और रेल बोर्ड के सुझाव के आधार पर किया गया है.” नकदी संकट से जूझ रही रेलवे ने सभी गाडिय़ों में खान-पान सेवा बेहतर करने के लिए कई तरह की पहल की घोषणा की है.

कोल्ड ड्रिंक, चाकलेट हटायेंगे
खाने की सूची में से कोल्ड ड्रिंक और चाकलेट को हटाया जा रहा है और इनकी जगह पर नामी गिरामी कंपनी की आईसक्रीम और दही की आपूर्ति की जाएगी. उन्होंने कहा ”हम राजधानी और अन्य प्रमुख गाडिय़ों में बदलाव से जुड़े ब्योरे पर काम कर रहे हैं ताकि यात्रियों को अच्छा खाना मुहैया कराया जा सके.” उक्त प्रमुख गाडिय़ों शुल्क बढ़ाने की वजह के बारे में अधिकारी ने कहा ”पिछले बार जब दशक भर पहले शुल्क में बढ़ोतरी हुई थी उसके बाद से खाद्य तेल और अन्य खाद्य उत्पादों की कीमत कई गुना बढ़ी है. इसलिए इसमें संशोधन होना काफी समय से लंबित था.” रेलवे 21 राजधानी और 23 दूरंतो समेत 59 प्रमुख गाडिय़ों में 91,000 लोगों को खान और अल्पाहार मुहैया कराती है.

बेहतर खान पान के लिए निगरानी दल
इन गाडिय़ों बेहतर खाना मुहैया कराने की कोशिश हो रही है और रेल परिसर में कैटरिंग सेवा की निगरानी के लिए एक जांच दल बनाया गया है. रेलवे ने खाने या कैटरिंग सेवा से जुड़े मामलों में शिकायत के संबंध में यात्रियों के लिए मुफ्त हेल्पलाइन- 1800-11-321 पेश की है.

रेलवे ने दावा किया है कि सुबह सात बजे से रात दस बजे तक पूरे हफ्ते यह हेल्पलाइन काम करेगी और इस पर फौरन अमल हो सकता है. साथ ही यदि शिकायत सही पाई गई कैटरिंग कंपनी का अनुबंध तुरंत रद्द किया जा सकता है. रेल यात्री किराए में बढ़ोतरी के बाद रेल मंत्री पवन कुमार बंसल ने खाना और सफाई सेवा में भी सुधार का वादा किया था.

दूसरी बार बढ़ा किराया
अधिकारी ने कहा कि शुल्कों में संशोधन की घोषणा जल्दी होगी और साफ्टवेयर अद्यतन होते ही इसे लागू किया जाएगा. संशोधन की घोषणा होने पर इन रेलगाडिय़ों के किराए में 22 जनवरी के बाद हुई यह दूसरी बढ़ोतरी होगी. पिछले महीने करीब 10 साल बाद मेल और एक्सप्रेस रेलगाडिय़ों मं खाने-पीने की चीजों के दाम बढ़ाये गये लेकिन इसमें राजधानी, शताब्दी और दूरंतो रेलगाडिय़ों को कैटरिंग शुल्क नहीं बढ़ा था. उक्त रेलगाडिय़ों में यात्रियों को दिए जाने वाले खाने और अल्पाहार का शुल्क टिकट के किराए में शामिल होता है.

Related Posts: