• दिग्विजय सिंह ने अन्ना पर फिर उठाए सवाल

नई दिल्र्ली, 30 अक्टूबर. कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने अन्ना हजारे पर एक बार फिर हमला बोला है। दिग्विजय सिंह ने सोशल माइक्रो साइट ट्विटर पर टिप्पणी करते हुए कहा है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ  से रिश्तों को लेकर योग गुरु बाबा रामदेव गांधीवादी समाजसेवी अन्ना हजारे से ज़्यादा ईमानदार हैं। उन्होंने टिप्पणी की है,  संघ से रिश्ते पर बाबा रामदेव ज़्यादा ईमानदार हैं।

ये समझ में नहीं आता कि अन्ना क्यों इनकार कर रहे हैं? इस बीच, बीजेपी के थिंक टैंक रहे दक्षिणपंथी विचारक के.एन. गोविंदाचार्य ने कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह पर पलटवार करते हुए कहा है कि वह अन्ना हजारे के आंदोलन में उनका नाम लेकर राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह के बयान को गंभीरता से लेने जरूरत नहीं है। गोविंदाचार्य ने यह टिप्पणी दिग्विजय सिंह के उस बयान के जवाब में की है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अन्ना हजारे को अपने आंदोलन के पीछे छुपे तीन चेहरों-गोविंदाचार्य, अजीत डोभाल और गुरुमूर्ति को कोर कमिटी में शामिल करना चाहिए।  दिग्विजय सिंह अन्ना हजारे से यह मांग करते रहे हैं कि वह संघ से अपना रिश्ता स्वीकार करें। हालांकि, अन्ना हजारे यह कहते रहे हैं कि वे कभी भी संघ की शाखा में कभी नहीं गए हैं और उनका संघ से कोई लेनादेना नहीं है।   दूसरी तरफ, बाबा रामदेव ने गांधीवादी अन्ना हजारे पर संघ से रिश्तों को लेकर देश से झूठ बोलने का आरोप लगाया है।

एक हिंदी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में बाबा रामदेव ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अन्ना हजारे के आंदोलन में खुलकर सहयोग किया लेकिन अन्ना ने संघ से रिश्तों को लेकर झूठ बोला। बाबा रामदेव ने यह भी कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में वो सभी के सहयोग को स्वीकार करते हैं और उन्हें संघ से रिश्तों को लेकर कोई आपत्ति नहीं हैं।   योग गुरु ने कहा कि उन्हें भ्रष्टाचार के खिलाफ लडा़ई में किसी के समर्थन से ऐतराज नहीं है। योग गुरु ने इसके साथ ही जोड़ा कि वह कभी संघ की शाखा में नहीं गए हैं। लेकिन राष्ट्र हित के किसी भी मुद्दे पर वह सबका समर्थन लेने को तैयार हैं।

मुलाकात अन्ना को पड़ रही भारी, पीठ में दर्द

पुर्णे, 30 अक्टूबर. मजबूत लोकपाल की मांग कर रहे गांधीवादी समाजसेवी अन्ना हजारे के मौनव्रत के बावजूद सेहत में सुधार के कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं। रालेगण सिद्धि में अन्ना से रोज सैकड़ों लोग मिलने आ रहे हैं। अन्ना इन लोगों से मिलते हैं। लेकिन इससे उनके शरीर पर असर पड़ रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि उनकी पीठ की मांसपेशियों में खिंचाव की वजह से दर्द है।  डॉक्टर केएच संचेती ने शनिवार को अन्ना की सेहत की जांच की। डॉ. संचेती ने कहा, बहुत देर तक बैठने और बड़ी संख्या में लोगों से मिलने की वजह से उनकी पीठ में दर्द है। उन्होंने बताया कि हजारे के पैरों में भी सूजन है। उनके भोजन में प्रोटीन की कमी है।   डॉ. संचेती ने कहा, अपर्याप्त भोजन और उसमें प्रोटीन की कमी है। मैंने उन्हें भोजन में प्रोटीन वगैरह लेने की सलाह दी है। डॉ. संचेती ने अन्ना को 8 दिनों के आराम की सलाह दी है। हालांकि, डॉ. संचेती ने अन्ना की सेहत को लेकर संतोष जताया। संचेती ने यह भी कहा कि उन्होंने अन्ना को अपना मौन व्रत तोडऩे को कहा है।

Related Posts: