दिल्ली मामले में अब चिदंबरम ने तोड़ी चुप्पी

घटना शर्मिंदा करने वाली : चिदंबरम
P.Chidambramनई दिल्ली, 26 दिसंबर. केंद्र सरकर ने राजधानी दिल्ली में बीते सप्ताह एक युवती के साथ हुए सामूहिक बलात्कार (गैंगरेप) मामले की जांच के लिए आयोग गठित किया, यह दिल्ली को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने के उपाय सुझाएगा। वहीं, यह जांच आयोग तीन महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपेगा। सरकार ने दिल्ली गैंगरेप मामले में विरोध बढ़ता देख जांच के लिए आयोग को मंजूरी दे दी।

केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि दिल्ली में बीते दिनों हुई गैंगरेप की घटना बड़ी शर्मिंदा करने वाली है। इस मामले में एसडीएम ऊषा चतुर्वेदी के आरोपों की जांच की जा रही है और इस मामले में जांच के आदेश दिए जा चुके हैं। चिदंबरम ने यह भी कहा कि गैंगरेप के मामले को लेकर सरकार कठोर कदम उठा रही है और इस पर काफी गंभीर है। वित्त मंत्री ने कहा कि कैबिनेट ने आयोग के गठन को मंजूरी दे दी है।

जिसका नेतृत्व रिटायर्ड जस्टिस ऊषा मेहरा करेंगी। उन्होंने यह भी कहा कि आयोग इस केस में जिम्मेदारी तय करेगा और दिल्ली पुलिस की तरफ से इस केस में बरते गए किसी तरह की अनदेखी पर भी संज्ञान लेगा। आयोग से यह भी कहा गया है कि देश में (विशेषकर दिल्ली और एनसीआर के शहरों में) महिलाओं की सुरक्षा और संरक्षा को लेकर सुझाव दें। मंत्री ने कहा कि आयोग तीन माह के अंदर रिपोर्ट सौंप देगा।

चिदंबरम ने कहा कि हम जरूरी कदम इस समय उठा रहे हैं और इस मामले में सरकार काफी गंभीर है। दोषियों को सजा जरूर दी जाएगी। हम यह कोशिश कर रहे हैं कि क्या गलतियां हुई और इसके लिए जवाबदेही तय करेंगे। साथ ही, जरूरत के अनुसार, कानून में भी संशोधन करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार इस मामले में सुझावों का स्वागत करती है। चिदंबरम ने गैंगरेप पीडि़त युवती के बारे में कहा कि हम सके जल्द ठीक होने की आशा कर रहे हैं और हमारी प्राथनाएं उसके परिजनों के साथ हैं। गौर हो कि दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने दिल्ली पुलिस पर बलात्कार पीडि़ता के बयान दर्ज करने में वरिष्ठ अधिकारियों की दखलंदाजी का आरोप लगाया था।

झूठ बोल रही है दिल्ली पुलिस : चश्मदीद
जनता की पिटाई या आंसू गैस के धुएं व लाठीचार्ज से मची भगदड़ के बाद हार्ट अटैक। दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सुभाष चंद तोमर की मौत की असल वजह इनमें से क्या हो सकती है मौत की वजह पर उलझन बढ़ती ही जा रही है। इस बीच चश्मदीद महिला पाउलिन ने यह कहकर मामले को और उलझा दिया है कि पुलिस झूठ कह रही है। दरअसल सुभाष के आस-पास भीड़ थी ही नहीं तो भीड़ द्वारा उन्हें पीटे जाने का तो सवाल ही नहीं उठता। पाउलिन ने यह कहकर दिल्ली पुलिस की मुश्किल और बढ़ा दी है कि जिस वक्त तोमर की हालत बिगड़ रही थी उस वक्त पुलिस के लोगों ने उनकी मदद नहीं की। उनकी मौत पुलिस की वजह से हुई न कि प्रदर्शनकारियों की वजह से। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस सुभाष की मौत के बहाने गैंगरेप के मामले को दबाना चाहती है।

मेदांता शिफ्ट हो सकती है पीडि़ता, हालत बिगड़ी!
दिल्ली में हुए गैंगरेप की पीडि़त युवती की हालत नाजुक बनी हुई है। पल्स रेट और ब्लड प्रेशर लगातार गिरने के कारण उसकी हालत बिगड़ती जा रही है। उसकी नाजुक स्थिति को देखते हुए उसे गुडग़ांव के मेदांता हॉस्पीटल में शिफ्ट करने पर भी विचार किया जा रहा है। दिल्ली पुलिस की डीसीपी साउथ छाया शर्मा भी अस्पताल पहुंची हैं। फिलहाल पीडि़ता का कोई भी परिजन अस्पताल में मौजूद नहीं। उसके पिता ने फोन पर कहा कि अभी बेटी की तबियत के बारे में कुछ भी बता पाना संभव नहीं क्योंकि हम अस्पताल में नहीं है। इतना कहने के बाद फोन स्विच ऑफ हो गया।

चोटों की वजह से मौत!
कांस्टेबल सुभाष तोमर की मौत पर दिल्ली पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि तोमर की मौत ज्यादा चोटों की वजह से हुए हार्ट अटैक के कारण हुई। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा है कि तोमर को गर्दन, सीने और पेट में अंदरूनी चोटें आई थी और इस कारण उन्हें हार्ट अटैक हुआ।

इंदौर में दुष्कर्म

इंदौर. यहां किराये का मकान दिखाने के बहाने एक 45 वर्षीय तलाकशुदा महिला के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई है। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को धर दबोचा।

पुलिस सूत्रों ने बुधवार को बताया कि मामले में गिरफ्तार आरोपियों की पहचान कुदरत पटेल (35) और इसहाक शाह (33) के रूप में हुई है।  दोनों आरोपियों ने खजराना क्षेत्र की खुदाबख्श कॉलोनी के एक मकान में 45 वर्षीय महिला के साथ 25 दिसंबर को कथित तौर पर गैंगरेप किया। तलाकशुदा महिला को किराये का मकान दिखाने के बहाने वहां ले जाया गया था।

कोलकाता में पुलिस ने रेपिस्ट को छोड़ा

कोलकाता. कोलकाता में भी खड़ी बस में एक महिला से रेप की कोशिश की गई। ठाकुरपुकुर पुलिस थाने से 400 मीटर की दूरी पर डायमंड हार्बर के पास कदमतला मोड़ पर यह घटना घटी। स्थानीय लोगों का कहना है कि महिला को बचाने के बाद उन लोगों ने आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया था, इसके बाद पुलिस पूरे मामले में लीपापोती में लगी है।  पुलिस पर आरोप है कि उसने आरोपी को फरार होने दिया।  पुलिस ने कहा कि महिला मानसिक रूप से विक्षिप्त लग रही है और बार-बार अपना बयान बदल रही है।

युवती के साथ गैंगरेप

10 गिरफ्तार
विरूधचलम (तमिलनाडु). मणिमुक्त नदी के किनारे दस लोगों ने एक 20 वर्षीय युवती के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया। पुलिस ने बताया कि सभी आरोपियों को कल गिरफ्तार कर लिया गया। कुड्डलोर जिले के गुरूमंगलम गांव की रहने वाली युवती नदी के किनारे अपने एक परिजन से बात कर रही थी। तभी आरोपी उनपर टूट पड़े। युवती के परिजन ने जब उसे बचाना चाहा तब आरोपियों के समूह ने उस पर हमला किया और बाद में युवती के साथ दुष्कर्म किया।

आगरा में भी गैंगरेप का प्रयास

मंगलवार को फतेहपुर सीकरी क्रिसमस मनाने आई इंटरमीडिएट की एक छात्रा को पांच युवकों ने दबोच लिया और फिर विरोध करने पर उसके तीन दोस्तों को जमकर पीटा। चीख-पुकार सुनकर सुरक्षाकर्मी दौड़े, तब छात्रा को बचाया जा सका।

वहीं मंगलवार देर रात लड़की की हालत और बिगड़ता देख आपात स्थिति में विशेषज्ञ डॉक्टरों को अस्पताल बुला लिया गया है। डॉक्टरों ने युवती का वेंटिलेटर सपोर्ट बढ़ा दिया है और उसे बचाने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। उसकी सांस की गति भी तेज हो गई है।  पीडि़त युवती के पिता व परिजन भी अस्पताल में मौजूद हैं। पीडि़त युवती की सेहत में पल-पल बदलाव हो रहा है। कभी हालत बिगड़ जाती है तो कभी सुधार दिखने लगता है।

उसकी सेहत में लगातार उतार-चढ़ाव हो रहा है। शाम पांच बजे डॉक्टरों ने दावा किया था कि उसका स्वास्थ्य सोमवार के मुकाबले बेहतर है। भारी मात्रा में प्लेटलेट्स, फ्रेश फ्रोजेन प्लाज्मा, डोनर प्लेटलेट्स (किसी से खून लेकर प्लेटिलेट्स) व खून चढ़ाने से प्लेटिलेट्स बढ़ा है। इसकी वजह से सुधार दिख रहा है। वह होश में है, इशारों में अपने माता-पिता से बात भी कर रही है। इसके अलावा उसके शरीर में आंतरिक रक्तस्त्राव कम हुआ है। चिंता की बात यह है कि शरीर व खून में संक्रमण कम नहीं हो रहा है।

इस वजह से पीडि़त के शरीर में स्वत: खून नहीं बन रहा है। सुधार तभी माना जाएगा कि जब उसके शरीर में स्वत: खून बनने लगे। सफदरजंग अस्पताल के सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. सुनील जैन ने कहा कि रविवार रात व सोमवार को उसके शरीर के आंतरिक हिस्सों में रक्तस्त्राव ज्यादा हुआ था। उसके शरीर में रक्त जमने की क्षमता में सुधार होने के कारण आंतरिक रक्तस्त्राव में कमी आई है। पर रक्तस्त्राव पूरी तरह बंद नहीं हुआ है। इसके अलावा प्लेटलेट्स काउंट 70 हजार से बढ़कर 81 हजार हो गया है। हीमोग्लोबिन भी ठीक है। सफेद रक्तकण में कल के मुकाबले मामूली गिरावट हुई है पर वह 5,800 है।

Related Posts: