धान मंडी शुल्क से मुक्त, बारकोडेड फूड कूपन समय-सीमा में दें

भोपाल,3 नवम्बर नभासं. मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने निर्देश दिये हैं कि प्रदेश में कहीं भी गरीबों के राशन की कालाबाजारी नहीं होने पाये. सार्वजनिक वितरण प्रणाली के वाहनों में जी.पी.एस.सिस्टम लगाने तथा अन्त्योदय और बी.पी.एल. राशन कार्ड धारकों को बारकोडेड राशन कार्ड के कार्य को गति दी जाय.

चौहान आज मंत्रालय में खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण विभाग की त्रैमासिक समीक्षा कर रहे थे. बैठक में खाद्य राज्य मंत्री पारस जैन, मुख्य सचिव अवनि वैश्य, अपर मुख्य सचिव आभा अस्थाना, प्रमुख सचिव वित्त अजयनाथ सहित संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे.

बासमती चावल मंडी शुल्क से मुक्त किया जायेगा
बैठक में मुख्यमंत्री चौहान ने बासमती चावल को मंडी शुल्क से राहत दिए जाने की कार्रवाई के निर्देश दिए. बैठक में बताया गया कि पिछले रबी सीजन में प्रदेश में करीब 50 लाख मीट्रिक टन गेहूँ समर्थन मूल्य पर खरीदा गया था. आगामी रबी में खरीदी बढ़कर 60 लाख मीट्रिक टन संभावित है. इसे ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खरीदी की तमाम व्यवस्थाओं के साथ सुरक्षित भण्डारण की तैयारियाँ अभी से करने के निर्देश दिये. बताया गया कि गत रबी मौसम में किसानों को 100 रूपये क्विंटल की दर से 496 करोड़ रूपये बोनस दिया गया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे फूड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा निर्धारित मात्रा में खाद्यान्न का उठाव नहीं करने से उत्पन्न समस्याओं के संबंध में केन्द्रीय खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री को पत्र लिखेंगे. साथ ही आगामी दिल्ली यात्रा के दौरान इस बारे में केन्द्रीय मंत्री से भी मिलेंगे. बैठक में बताया गया कि फूड कारर्पोरेशन द्वारा खाद्यान्न का उठाव नहीं करने से जहाँ एक ओर भण्डारण की समस्या उत्पन्न हो रही है वही राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के समक्ष कैश-क्रेडिट की समस्या खड़ी हो रही है. चौहान ने उपार्जन एवं भण्डारण कार्य के संबंध में आगामी पखवाड़े में पृथक से बैठक बुलाने के निर्देश दिए.

बैठक में बताया गया कि धान उपार्जन कार्य 23 जिलों में शुरू हो गया है. कुल 483 केन्द्रों का गठन किया गया है. इस वर्ष प्रदेश में साढ़े पाँच लाख मैट्रिक टन धान समर्थन मूल्य पर खरीदे जाने का अनुमान है. केन्द्र ने कामन धान के लिये 1080 रूपये तथा ए-ग्रेड धान के लिये 1110 रूपये क्विंटल समर्थन मूल्य घोषित किया है.

खाद्यान्न का पुनरावंटन

कलेक्टर निकुंज कुमार श्रीवास्तव द्वारा दिए गए निर्देशों के चलते उचित मूल्य दुकानों को माह नवम्बर का खाद्यान्न कोटा पुनरांवटित कर दिया गया है .इस सिलसिले में जारी आदेश के मुताबिक बी.पी.एल.का 29 हजार 260 क्विंटल गेहूँ, एक हजार क्विंटल चावल तथा अंत्योदय योजना के तहत 13 हजार 510 क्विंटल गेहूँ, एक हजार 240 क्विंटल चावल योजनावार वितरण के लिए तहसील हुजूर एवं बैरसिया और भोपाल शहर स्थित उचित मूल्य दुकानों को पुनरांवटित कर दिया गया है . इसके अलावा 22 हजार 967 क्विंटल गेहूँ और 5194.6 क्विंटल शक्कर भी पुनरांवटित की गई है .

निर्धारित योजना के मुताबिक माह नवम्बर में प्रति बी.पी.एल.कार्ड 16 किलो गेहूँ और पांच किलो चावल वितरित किया जायेगा . अंत्योदय राशन कार्ड पर 32 किलो गेहूँ और तीन किलो चावल तथा सामान्य कार्ड पर ए.पी.एल.का 15 किलो गेहूँ और प्रति बी.पी.एल./ एम.ए.वाय 2 किलो 200 ग्राम शक्कर प्रति कार्ड दी जायेगी . बी.पी.एल. और ए.पी.एल. कार्ड पर वितरण प्रथम आओ-प्रथम पाओ के आधार पर किया जायेगा . बी.पी.एल.कार्ड पर गेहूँ तीन रूपये प्रति किलो और चावल साढ़े चार रूपये प्रति किलो तथा पीले राशन कार्ड पर गेहूँ दो रूपये प्रति किलो और चावल तीन रूपये प्रति किलो की दर से वितरित किया जायेगा . इसी तरह ए.पी.एल.राशन कार्ड पर गेहूँ नौ रूपये प्रति किलो और शक्कर साढ़े तेरह रूपये प्रति किलो की दर से दिया जायेगा . सभी उचित मूल्य दुकानदारों को यह हिदायत दी गई है कि वे निर्धारित मात्रा और दर के मुताबिक पुनरांवटित खाद्यान्न का वितरण राशन कार्ड धारकों को करें . दूसरी ओर उपभोक्ताओं से भी अपील की गई है कि वे अपनी निर्धारित दुकान से खाद्यान्न प्राप्त करें

Related Posts: