रतलाम/बदनावर, 25 नवंबर. रतलाम और बदनावर में अपहरण की घटनाओं ने सनसनी फैला दी. रतलाम में जहां एक व्यापारी के बालक का अपहरण हुआ वहीं बदनावर में एक छात्रा के अपहरण का प्रयास हुआ. छात्रा के अपहर्ता पकड़ लिये गये. वहीं बालक के अपहर्ता उसे एक खेत में छोड़कर भाग गए.

नाकाबंदी से घबरा खेत में छोड़ गए बालक को

रतलाम, शहर के प्रसिद्ध व्यवसायी के छह पुत्र का स्कूल जाते समय अपहरण हो गया. इस घटना के बाद पुलिस ने जिले सहित आसपास के क्षेत्रों में नाकाबंदी की. दोपहर को बदनावर के समीप एक खेत में अपहरणकर्ता बालक को छोड़ गये. पुलिस ने बालक को बरामद कर लिया है लेकिन आरोपी फरार होने में सफल हो गए.

मिली जानकारी के अनुसार प्रसिद्ध व्यवसायी कमल चौरडि़य़ा के छह पुत्र कुणाल प्रात: 8 बजे स्कूल आटो रिक्शा में जा रहा था. तभी गणेश देवरी चौराहे पर दो युवक बाईक पर  आए और ऑटो रुकवाकर आटो चालक के साथ मारपीट की व उसकी आंख में मिर्ची झोंक दी. उसके बाद उन युवकों ने  कुणाल को उठाकर पास में चल रही ट्रेक्स जीप में डालकर ले गए. आटो चालक ने जीप का पीछा किया, लेकिन वह पकड़ नहीं पाया. इस घटना के बाद पुलिस ने पूरे जिले की सीमा में नाकेबंदी कर दी तथा आसपास के जिले धार-झाबुआ व उज्जैन में भी सूचना दी गई. दोपहर में साइबर क्राइम ब्रांच के माध्यम से सूचना मिली कि बालक बदनावर के समीप ग्राम संदेल में एक खेत में है. पुलिस द्वारा घटना स्थल पर पहुंचकर बालक को बरामद किया. बताया जाता है कि पुलिस की सर्चिंग को भापंकर अपहरणकर्ताओं ने बालक को उस खेत में छोड़कर भाग गए. इस मामले में अपहरणकर्ताओं ने बालक के पिता को फोन पर जान से मारने धमकी दी.

Related Posts: