नई दिल्ली, 31 अक्टूबर. लग रहा है कि कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह की भविष्यवाणी सच होने वाली है। योग गुरु बाबा रामदेव और अन्ना हजारे के बाद आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन की राह पर चल पड़े हैं। श्री श्री अपने आंदोलन की शुरुआत उत्तर प्रदेश से करेंगे, जहां अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

रिपोर्टों के मुताबिक, रविशंकर अगले महीने से यूपी में कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाले इलाकों की यात्रा कर लोगों को करप्शन के खिलाफ जागरुक करेंगे। बताया जा रहा है कि 7 से 10 नवंबर तक श्री श्री रविशंकर अमेठी, सुल्तानपुर, सोनभद्र और कानपुर समेत 10 जिलों का दौरा करेंगे।

गौरतलब है कि इससे पहले दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया था कि अन्ना हजारे और रामदेव के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन आरएसएस और बीजेपी के प्लान का हिस्सा थे। इनका मकसद था संघ के आतंकवाद से संबंधों की तरफ से आम लोगों का ध्यान हटाना। दिग्विजय ने कहा था कि रामदेव और हजारे संघ-बीजेपी के प्लान ए और प्लान बी थे। रविशंकर प्लान सी हैं, इसलिए वह इन दोनों संगठनों से सावधान रहें।

Related Posts: