लखनऊ, 13 नवंबर.  मायावती ने ऊंची जाति के गरीबों के लिए आरक्षण की मांग करते हुए कहा कि उन लोगों को आर्थिक आधार पर आरक्षण मिलना चाहिए।

लखनऊ में स्मीति उपवन में एक सभा को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि आज पूरे देश में शिक्षा और सरकारी नौकरियों में आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग की जा रही है, जिसका बहुजन समाज पार्टी ने हमेशा समर्थन किया है। इस सम्बंध में प्रधानमंत्री को कई बार पत्र लिखकर ऊंची जाति के गरीब लोगों को आर्थिक आधार पर आरक्षण देने का अनुरोध किया गया है। मायावती ने कहा कि सूबे में यदि बसपा की सरकार दोबारा बनी तो ऊंची जाति के लोगों को सही नुमाइंदगी दी जाएगी। इस दौरान उन्होंने साफ किया कि बसपा किसी जाति के खिलाफ नहीं है और किसी तरह से जातिवाद को बढ़ावा नहीं देती है। विरोधियों पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि पार्टी से ऊंची जाति के लोगों के जुडऩे से विरोधी घबरा गए हैं। इसीलिए तरह तरह के हथकंडे अपनाकर पार्टी की छवि बिगाडऩे की कोशिश कर रहे हैं, लिहाजा आप लोगों को विरोधियों से सावधान रहना चाहिए।

Related Posts: