भोपाल,10 अप्रैल,नभासं.पन्ना टाइगर रिजर्व में रात में अनधिकृत प्रवेश कर सरीसृप प्रजाति के जीवों की खोजबीन करने वाले चार शोध छात्रों के खिलाफ टाइगर रिजर्व प्रबन्धन द्वारा मामला दर्ज किया गया है.

अपनी इस नादानी के चलते इन छात्रों को जेल की हवा खानी पडी है. चारों छात्र इंडियन इंस्टीट्यूट आफ साईंस बैंगलोर के छात्र हैं. इनमें एक छात्र सेवानिवृत्त पीसीसीएफ का पुत्र है. राजधानी में वन विभाग के सूूत्रों के अनुसार प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्था के शोध छात्र अध्ययन यात्रा पर पन्ना आये हुए थे. ये छात्र पन्ना जिले के पर्यटक ग्राम मंडला स्थित एक रिसार्ट में ठहरे थे. गत शुक्र वार की रात्रि 10 बजे चारों छात्र मंडला से पन्ना के लिए रवाना हुए और बीच मार्ग में रुककर पन्ना टाइगर रिजर्व के जंगल में जाकर सरीसृप प्रजाति के जीवों की तलाश करने लगे. रिजर्व वन क्षेत्र में टार्च की रोशनी देख बकचुर वन चौकी में तैनात वन कर्मी वहां पहुंचे और तलाशी ली तो छात्रों के पास छिपकली.

बिच्छु तथा कुछ केमिकल्स मिले. पूछताछ करने पर पता चला कि ये छात्र बिना अनुमति के टाइगर रिजर्व क्षेत्र में प्रवेश कर गये थे जिसके चलते इनके विरद्ध वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया. इस प्रकरण में सूत्रों ने कहा कि टाइगर रिजर्व प्रबन्धन ने कानून के उल्लघंन पर मामला दर्ज किया है. अगर इस तरह की घटनाओं को सख्ती से नहीं रोका गया तो पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघ एवं दूसरे वन्य जीवों की सुरक्षा खतरे में पड जायेगी.

Related Posts: