Rohit Sharmaमोहाली,24 जनवरी. भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे एकदिवसीय मैच में टीम की पांच विकेट की जीत में रोहित शर्मा के योगदान की सराहना की. धोनी ने इस बल्लेबाज को ‘सबसे प्रतिभावान बल्लेबाज’ करार दिया.

धोनी ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मुझे खुशी है कि उसने रन बनाए क्योंकि वह सबसे प्रतिभावान बल्लेबाजों में से एक है. बेशक उसे इस तरह की पारी की काफी जरूरत थी. इससे उसका आत्मविश्वास बढ़ेगा और उसे समय मिलेगा. निजी तौर पर मैं उसके लिए काफी खुश हूं. उन्होंने कहा कि हम सभी को लगता है कि वह ऐसा खिलाड़ी है जो काफी अच्छा सलामी बल्लेबाज बन सकता है क्योंकि वह कट और पुल काफी अच्छा खेलता है. दो सलामी बल्लेबाजों में आपको एक के थोड़ा आक्रामक होने की जरूरत होती है और मुझे लगता है कि उसने इस चुनौती को स्वीकार किया. उसे मनोज के अनफिट होने के कारण टीम में शामिल किया गया था इसलिए उसके पास मौका था. अच्छी चीज यह है कि उसने चुनौती को स्वीकार किया.

रोहित ने 83 रन बनाए लेकिन जब धोनी से पूछा गया कि अगर यह बल्लेबाज आज विफल होता तो क्या होता तो भारतीय कप्तान ने कहा कि यह मुश्किल सवाल है. मुझे नहीं पता कि अगर वह रन नहीं बनाता या किसी भी अन्य दशा में क्या होता. हम सर्वश्रेष्ठ चीज यह कर सकते हैं कि धर्मशाला में उसे एक और मौका दें और फिर देखें. हम सभी को लगता है कि वह काफी प्रतिभावान है. उसे श्रीलंका के खिलाफ पिछली श्रृंखला में मौका मिला जहां वह कुछ अच्छी गेंद पर आउट हुआ.

धोनी ने कहा कि रोहित के लिए मध्यक्रम में जगह बनाना मुश्किल होगा क्योंकि अन्य खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और कुछ खिलाडिय़ों की चोट के कारण सलामी बल्लेबाज का स्थान ही खाली है. भारतीय कप्तान को मैच से पहले अभ्यास के दौरान अंगूठे में चोट लगी थी और जब उनसे धर्मशाला में 27 जनवरी को अगले मैच में आराम के बारे में पूछा गया तो उन्होंने अपने विकल्प खुले रखे. उन्होंने कहा कि हम देखते हैं. प्रेस कांफ्रेंस इतनी जल्दी थी कि मुझे चयनकर्ताओं से बात करने का मौका नहीं मिला. निश्चित तौर पर यह मौका है लेकिन देखते हैं क्या होता है. मैं अभी किसी चीज की पुष्टि नहीं कर सकता.

Related Posts: