रालेगण सिद्धि, 14 अप्रैल. प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने एक बार फिर केंद्र सरकार और महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ आंदोलन की हुंकार भरी हैं। इस बार अन्ना हजारे ने आरटीआई कानून में केंद्र सरकार के बदलाव के प्रस्ताव पर कहा कि यदि आरटीआई कानून में बदलाव हुआ तो हम आंदोलन करेंगे।

अन्ना हजारे अपने गृह नगर रालेगण सिद्ध िमें पत्रकारों से बात कर रहे थे। अन्ना ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री आरटीआई कानून को बदलने को तैयार हैं। यदि बदलाव हुआ तो इसका जमकर विरोध किया जाएगा। आरटीआई कानून के प्रभावी होने के बाद से घूसखोरी में कमी आई हैं। केंद्र सरकार भ्रष्टाचार नहीं मिटाना चाहती। भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे मंत्रियों को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। अन्ना हजारे ने महाराष्ट्र सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि राज्य में मजबूत लोकायुक्त नहीं आया तो आंदोलन होगा। राज्य के मुख्यमंत्री ने लोगों से जो वादा किया था, उसको नहीं निभाया है।

‘भ्रष्ट मंत्रियों का पर्दाफाश करेंगे- मुंबई. यूपीए मंत्रीमंडल में 16 मंत्रियों पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाते हुए टीम अन्ना के सदस्य अरविंद केजरीवाल ले  कहा कि इन राजनीतिकों का पर्दाफाश कर के उनके खिलाफ लड़ाई जल्द ही दोबारा शुरू की जाएगी । केंद्रीय मंत्रीमंडल में 16 भ्रष्ट मंत्री हैं ।  हम इस महीने के आखिर में इन मंत्रियों का पर्दाफाश करने के लिए संवाददाता सम्मेलन करने की योजना बना रहे हैं ।

Related Posts:

कर्नाटक संकट : दिल्ली पहुंचे गौड़ा, पार्टी नेताओं से मिलेंगे
मध्यप्रदेश अपार संभावनाओं वाला राज्य
प्रधानमंत्री मोदी को नहीं मिल रहे योग्य मंत्री
त्रिपुरा हाईकोर्ट ने एडीसी के दोबारा सीमांकन जारी किया नोटिस
झांसी में टोल कर्मचारी से एक करोड रुपये लूटे
चुनाव आयोग नहीं, मोदी करेंगे गुजरात चुनाव की तारीख का ऐलान : चिदंबरम