मुंबई, 9 अगस्त. क्रिकेट से आराम के दौरान संसद के गलियारों में उपस्थिति दर्ज करा रहे मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का न्यूजीलैंड के खिलाफ 23 अगस्त से शुरु हो रही टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुना जाना लगभग तय माना जा रहा है लेकिन ..फैबुलस फोर.. की अहम कडी रहे हैदराबादी स्टाइलिश बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण के भविष्य पर अब भी संशय बरकरार है.

न्यूजीलैंड सीरीज के लिए यहां शनिवार को भारतीय टीम चुनी जा सकती है और इस कारण लक्ष्मण के भविष्य तथा भावी टीम को लेकर अटकलें तेज हो गयी हैं. आगामी माह होने वाले विश्व कप टवेंटी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के लिए भी भारतीय टीम की घोषणा इसी दिन की जा सकती है और इसके लिए सभी निगाहें वनडे विश्व कप के मैन आफ द टूर्नामेंट युवराज सिंह पर रहेंगी.

युवराज कैंसर से उबरने कें बाद बेंगलूर स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में लगातार अभ्यास कर रहे हैं और उनके भविष्य को लेकर भी क्रिकेटप्रेमियों में तीव्र जिज्ञासा बनी हुई है. सूत्रों का कहना है कि युवराज को टीम में शमिल करने या नहीं करने का मामला एनसीए द्वारा दिये जाने वाले फिटनेस प्रमाण पत्र पर निर्भर करेगा. सूत्रों का यह भी कहना है कि लक्ष्मण के चयन पर दो परस्पर विरोधी विचार सामने आ रहे हैं.

कुछ लोगों का कहना है इंग्लैंड के खिलाफ आगामी सीरीज को ध्यान में रखते हुए किसी युवा खिलाड़ी को आगे लाना चाहिए तो वहीं कुछ चाहते हैं कि लक्ष्मण को अपने घरेलू मैदानों पर खेलने का एक और मौका मिलना ही चाहिए. सचिन ने श्रीलंका में हुई वनडे सीरीज से विश्राम ले लिया था. इससे पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था. इस लिहाज से सचिन को न्यूजीलैंड के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी.

वर्ष की शुरुआत में आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की 0-4 से हार के बाद पहली बार भारतीय टीम टेस्ट के मैदान में उतरेगी. श्रीमान भरोसेमंद राहुल द्रविड़ के संन्यास के बाद से यह घरेलू धरती पर पहला टेस्ट भी होगा. इस कारण भारत के लिए यह सीरीज महत्वपूर्ण हो जाती है. युवा चेहरे को मौका देने की स्थिति में रणजी की रन मशीन नाम से प्रसिद्ध सौराष्ट्र के चेतेश्वर पुजारा के नाम पर विचार हो सकता है. उन्हें कुछ लोग द्रविड़ के उत्तराधिकारी के रूप में भी देख रहे हैं.

Related Posts: