लाहौर, 19 अप्रैल. लश्कर – ए – तयबा के संस्थापक हाफिज सईद ने लाहौर हाई कोर्ट से गुहार लगाई है कि पाकिस्तान सरकार को अमेरिका के दबाव में उसके खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने से रोका जाए. उसने अदालत से यह भी मांग की है कि उसे पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाए क्योंकि उसका जीवन सुरक्षित नहीं है और कोई भी  अनहोनी हो सकती है. गौरतलब है कि सईद पर मुंबई 26/11 के भीषण आतंकवादी हमले की साजिश रचने का आरोप है और हाल ही में अमेरिका ने उस पर 50 करोड़ रुपये के इनाम की घोषणा की है.

सईद की याचिका पर कोर्ट के चीफ जस्टिस अजमत सईद शेख ने पाकिस्तान की संघीय सरकार , गृह मंत्रालय और पंजाब प्रांत के गृह मंत्रालय को नोटिस जारी किए हैं और 25 अप्रैल तक जवाब मांगे हैं. सईद ने अपने रिश्तेदार हाफिज अब्दुर रहमान मक्की के साथ याचिका दायर की थी. पिछले दिनों अमेरिका ने इन दोनों पर इनाम घोषित किए थे. दोनों ने अपनी याचिका में पाकिस्तानी संविधान के अनुच्छेद 4 एवं 9 का हवाला देते हुए कहा कि वे स्वतंत्र नागरिक हैं. ऐसे में संघीय एवं प्रांतीय सरकारों को अमेरिका के दबाव में उनके खिलाफ कोई भी प्रतिकूल कार्रवाई करने से रोका जाए. दोनों ने अदालत से कहा कि सरकार को उन्हें पूरी सुरक्षा देने का आदेश दिए जाए क्योंकि उनका जीवन सुरक्षित नहीं है और कभी भी कोई हादसा हो सकता है. उन्होंने ने यह भी मांग की है कि पाकिस्तान सरकार को यह आदेश दिया जाए कि वह उन पर इनाम वापस लेने के लिए अमेरिका से आग्रह करे.

सबूत दे अमेरिका
सईद के वकील ए.के. डोगर ने कहा कि पाकिस्तान सरकार को अमेरिकी सरकार से कहना चाहिए कि वह सईद के खिलाफ सबूत मुहैया कराए. किसी को बिना सबूत के गिरफ्तार करना कानून का सीधा उल्लंघन है.

Related Posts: