थाईलैंड ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट

बैंकांक, 9 जून. शीर्ष वरीय भारत की सायना नेहवाल ने अपने स्वप्निल प्रदर्शन का सिलसिला बरकरार रखते हुए करते हुए तीसरी वरीयता प्राप्त स्थानीय स्टार पोर्नटिप बुरानाप्रसर्तसुक को आज यहां लगातार गेमों में 24-22, 21-11 से पीटकर थाईलैंड ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश करने के साथ ही वर्ष का अपना दूसरा खिताब जीतने की तरफ कदम बढ़ा लिया.

विश्व की पांचवें नंबर की खिलाड़ी सायना ने 42 मिनट में थाई प्रतिद्वंद्वी को निपटा दिया. सायना का फाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त थाईलैंड की रत्चानोक इंथानोन के साथ मुकाबला होगा जिन्होंने अन्य सेमीफाइनल में चीन की लिन वांग को 38 मिनट में 21-13, 21-19 से पराजित किया. टूर्नामेंट में एकमात्र भारतीय चुनौती बची सायना ने इस तरह तीसरी सीड पोर्नटिप बुरानाप्रसर्तसुक के खिलाफ अपना अपराजेय रिकार्ड बरकरार रखा. सायना थाई खिलाड़ी के खिलाफ अब तक अपने चारों मुकाबले जीत चुकी हैं.

सायना ने इस वर्ष मार्च में स्विस ओपन का खिताब जीता था और अब वह साल के अपने दूसरे खिताब की दहलीज पर पहुंच गयी हैं. सायना ने अपने प्रदर्शन से लंदन ओलंपिक के लिए अपनी मजबूत तैयारियों का भी संकेत दे दिया है. भारतीय खिलाड़ी ने हालांकि मैच लगातार गेमों में जीता लेकिन पहले गेम में उन्हें थाई खिलाड़ी के खिलाफ कड़ा संघर्ष करना पड़ा. दोनों खिलाडिय़ों के बीच मुकाबला बराबरी का रहा. सायना ने सात स्मैश विनर और थाई खिलाड़ी ने दस स्मैश विनर मारे. सायना का नेट खेल प्रतिद्वंद्वी से कहीं बेहतर था. सायना ने नेट पर आठ अंक जुटाए जबकि बुरानाप्रसर्तसुक पांच अंक ही जुटा सकी. सायना के 15 क्लीयर विनर ने मुकाबला उनके पक्ष में कर दिया.

पहले गेम में थाई खिलाड़ी ने तूफानी शुरुआत करते हुए बातों ही बातों में 9-2 की मजबूत बढ़त बना ली. लेकिन सायना ने संघर्ष करते हुए बुरानाप्रसर्तसुक को 16-16 की बराबरी पर जा पकडा. इसके बाद तो दोनों के बीच एक-एक अंक के लिए संघर्ष होता रहा. कभी सायना आगे निकली तो कभी बुरानाप्रसर्तसुक. आखिर 22-22 की बराबरी पर सायना ने लगातार दो अंक झटके और पहला गेम में 24-22 से जीतकर थाई खिलाड़ी पर मनोवैज्ञानिक बढ़त बना ली. पहला गेम जीतने के बाद तो सायना के खेल का स्तर कई गुना ज्यादा हो गया और थाई खिलाड़ी का संघर्ष दम तोड़ गया. सायना ने 5-2 की बढत बनाने के बाद फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा. उन्होंने यहां से लगातार चार अंक जुटाते हुए फिर स्कोर 9-3 कर दिया. सायना इसके बाद मनमाने अंदाज में विनर्स झोंकते हुए अंक बटोरते रहीं और उनकी बढ़त 18-9 पहुंच गयी.

थाई खिलाड़ी ने लगातार दो अंक लेकर स्कोर 11-18 किया. लेकिन सायना ने फिर तीन अंक बटोरे और दूसरा गेम 21-11 से जीतकर फाइनल में स्थान बना लिया. सायना ने थाई खिलाड़ी को गत वर्ष डेनमार्क ओपन सहित अपने पिछले तीन मुकाबलों में पराजित किया था.
विश्व में 17वें नंबर की थाई खिलाडी बुरानाप्रसर्तसुक पहला गेम नजदीकी संघर्ष में हारने के बाद फिर जीत की उम्मीद छोड़ बैठी. सायना के सामने फाइनल में एक बार फिर एक और थाई खिलाड़ी रहेंगी. दोनों के बीच अब तक तीन बार मुकाबला हुआ है जिसमें सायना ने दो बार जीत हासिल की है और इंथानोन ने एक बार, सायना ने इंथानोन को गत वर्ष जापान ओपन और 2009 में मलेशिया ओपन में हराया था जबकि इंथानोन ने सायना को सुदीरमन कप में ग्रुप मैच के दौरान हराया था. इंथानोन को विश्व में 1वीं वरीयता हासिल है और यहां उन्हें दूसरी वरीयता मिली है. इसे देखते हुए सायना के लिए खिताबी मुकाबला कतई आसान नहीं माना जा सकता.

Related Posts: