भोपाल, 8 जुलाई. भाजपा की वरिष्ठ नेत्री, लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज ने भोपाल में राष्ट्रपति चुनाव के निर्दलीय प्रत्याशी पीए संगमा की प्रशंसा करते हुए कहा कि राष्ट्रपति चुनाव देश में परिवर्तन की सुखद शुरूआत है.

संगमा जैसा कुशल राजनेता इस चुनाव में प्रणव मुखर्जी जो यूपीए सरकार में वित्त मंत्री के रूप में विफल रहे है और उन्होंने देश को गलत आर्थिक नीतियों के कारण महंगाई के भंवर में फंसा दिया है. 6 दशकों में पहली बार देश में आदिवासी चेहरा इस सर्वोच्च पद के लिए सामने आया है. इन्हें जिताने के लिए भाजपा के समर्थन में 13-14 दल आ चुके है. उन्होंने कहा कि भाजपा के  पास 21 प्रतिशत वोट है. देश में 872 विधायक, 163 सांसद और 7 राज्यों में पार्टी सरकार और दो राज्यों में गठबंधन की सरकार है. उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव में आम सहमति नहीं बनने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह को उत्तरदायी बताया.

सुषमा स्वराज ने भाजपा के सांसदों, विधायकों और पदाधिकारी की बैठक को संबोधित करते हुए अफसोस जाहिर कि राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस ने नैतिकता को तिलांजली दे दी है.  जिसकी शिकायत योजना आयोग को कर दी है और सोमवार तक निर्णय आ जाने की उम्मीद है. वहीं राष्टï्रपति के प्रत्याशी संगमा ने भाजपा के सांसदों, विधायकों से समर्थन मांगा. उन्होंने खुलासा करते हुए कहाकि प्रणव मुखर्जी वित्त मंत्री रहते हुए कलकत्ता के एक संस्थान के अध्यक्ष के रूप में लाभ के पद पर थे. नामांकन के दौरान जब उनका ध्यान आकर्षित किया गया तो आनन-फानन में फर्जीवाड़ा किया गया जिसकी प्रतियां भी सुषमा स्वराज ने इलेक्टरोट को वितरित की.

प्रभत झा ने पूर्व में अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि सौभाग्य है कि मध्यप्रदेश को पीए संगमा जैसे क्रांतिकारी नेता का समर्थन करने का मौका मिला है. प्रभात झा ने लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज पीए संगमा, राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी अनंत कुमार, राष्ट्रीय  महामंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, पूर्व सांसद अरविंद नेताम, अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष फग्गन सिंह कुलस्ते और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का स्वागत करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश अभेद किला है. यहाँ सारा समर्थन पीए संगमा के पीछे चट्टान की तरह रहेगा.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पीए संगमा का स्वागत करते हुए कहा कि भाजपा का कार्यकर्ता जन प्रतिनिधि विचार के लिए काम करता है. संगमा व्यक्ति नहीं संस्था है एक विचार है 9 बार सांसद, एक बार मुख्यमंत्री, 16 वर्ष केन्द्रीय मंत्री और लोकभा अध्यक्ष के रूप में उन्होंने जो योगदान दिया है उसे भुलाया नहीं जा सकता है.

पार्टी के राष्टï्रीय महासचिव अनंत कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि पीए संगमा कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी प्रणव मुखर्जी को निर्णायक टक्कर देंगे और संगमा का चमत्कारिक व्यक्तित्व चमत्कार लायेगा. उन्होंने कहा कि एनडीए के अलावा 145 पार्टियां संगमा के समर्थन में आ चुकी है और 13-14 के आने की आशा है. उन्होंने कहा कि प्रणव मुखर्जी ने यूपीए के घोटालों में हस्ताक्षर घोटाला भी शामिल कर दिया है. प्रणव मुखर्जी देश में कुशासन, महंगाई, भ्रष्टïचार एवं अराजकता के प्रतीक है वहीं सगमा देश में सुखद परिवर्तन का प्रतीक है. राष्ट्रपति चुनाव में उतरकर पीए संगमा ने सुखद राजनैतिक परिवर्तन का बिगुल बजा दिया है.

राष्ट्रपति चुनाव के प्रत्याशी पीए संगमा ने भोपाल पहुँचकर अपने को सौभाग्यशाली बताया और कहा कि मध्यप्रदेश हरा-भरा प्रदेश है. उन्होंने यह कहने में तनिक भी संकोच नहीं है कि मध्यप्रदेश का आज देश का भविष्य बनेगा. मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में राज्य ने तरक्की की है. सुशासन के मामले में गुजरात का नाम लिया जाता था लेकिन मध्यप्रदेश उसे आगे निकल रहा है. भावनात्मक रूप से मैं एक मन और एक प्राण हो गया हूं. उन्होंने कहा कि देश में जनता कांग्रेस से दूर जा चुकी है और बदलाव चाहती है. राष्टï्रपति के चुनाव से परिवर्तन की आहट कर्ण गोचर हो रही है. उन्होंने सांसदों, विधायको से समर्थन देने की अपील की है.

संगमा ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव दलील आधार पर नहीं हो रहा हे. संगमा और मुखर्जी दोनों निर्दलीय प्रत्याशी है. मतदाताओं को बेहतरी के लिए अंर्तआत्मा की आवाज पर अपना वोट देना है. उन्होंने भाजपा के प्रति आभार व्यक्त किया और कहा कि देश को आदिवासी भाजपा रीति नीति से आकर्षित हुआ है और आने वाले चुनाव में आदिवासियों का समर्थन कांग्रेस को नहीं भाजपा को मिलेगा. कांग्रेस को आदिवासियों के असंतोष और आक्रोष का खामियाजा भुगतना पड़ेगा. पूर्व में अतिथियों का प्रदेश अध्यक्ष प्रभात झा और वरिष्ठ पदाधिकारियों ने पुष्प गुच्छ भेंटकर स्वागत किया.

संगमा का विमानतल पर स्वागत

बैरागढ़, 8 जुलाई. राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पीए संगमा चुनाव प्रसार के लिए राजधानी पहुंचे जहा वे विशेष विमान से स्टेट हैंगर पर उनका प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष प्रभात झां, विधायक विश्वास सारंग, हुजूर विधायक जितेन्द्र डागा कई आदिवासी नेताओ ने उनका गर्म जोशी से स्वागत किया.

चुनाव में समर्थन मांगने वे भोपाल आए जहां उनका स्टेट हैंगर पर स्वागत किया गया. जहा आदिवासी कार्यकर्ताओ ने उनका नृत्य कर उनका स्वागत किया गया. देश में आदिवासियो की तादाद सबसे अधिक आने का समय आ गया. अब समय आ गया है कि उनका नेतृत्व करने वाला देश का नेतृत्व करे. इसके बाद प्रचार करने के बाद पीए संगमा ने विशेष विमान करीब सवा तीन बजे दिल्ली के लिए यहां से रवाना हो गये जहां उनको विदाई देने वालो में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा अध्यक्ष प्रभात झां, सहित कई भाजपा नेताओ ने उनको स्टेट हैंगर पर बधाई दी.

Related Posts: