भोपाल,4 जुलाई, लोक निर्माण मंत्री नागेन्द्र सिंह के अनुसार सतना जिले को जल्द ही 108 एम्बूलेंस की सेवा मिलेगी. जिले के हर एक विकासखण्ड में लगभग 3 से 4 एम्बूलेंस उपलब्ध करवाई जायेगी. शीघ्र आपात चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने में उपयोगी साबित 108 एम्बूलेंस सेवा के माध्यम से जिले के ग्रामीण अंचल में भी स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा उपलब्ध हो जायेगी.

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग हास्पिटल की एम्बूलेंस, 108 एम्बूलेंस और जननी एक्सप्रेस तीनों को मिलाकर जिले में एम्बूलेंस सेवाएँ उपलब्ध करवायेगा. जिले में इन सभी एम्बूलेंस का कॉल सेंटर 108 ही रहेगा. उपलब्धता एवं व्यक्ति की हालत के हिसाब से एम्बूलेंस उपलब्ध करवाई जायेगी. 108 एम्बूलेंस शुरू करने के लिए टेण्डर कॉल किया जा चुका है. इसमें विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध रहेगी.

आपातकालीन परिस्थितियों जैसे सड़क दुर्घटना, अग्नि दुर्घटना, मेडिकल-ट्रामा, हार्ट अटैक, ब्रेन हेमरेज जैसी आपात स्थितियों में लोगों को असामयिक मृत्यु से बचाने और प्रसवकालीन आकस्मिकताओं के दौरान फौरन चिकित्सा सहायता मुहैया कराने में 108 सेवाएँ वरदान सिद्ध हुई हैं. योजना में उपयोग में लाई जाने वाली एम्बूलेंस में हर समय प्रशिक्षित वाहन चालक और आपातकालीन पैरा मेडिकल तकनीशियन (ई.एम.टी.) उपलब्ध रहते हैं. इन्हें प्रभावित व्यक्तियों को प्राथमिक उपचार प्रदान करने के बारे में विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जाता है.

एम्बूलेंस में आकस्मिक चिकित्सा सेवा के लिए जरूरी जीवन रक्षक चिकित्सा उपकरणों और औषधियों के साथ ही चार स्ट्रेचर रहते हैं. उल्लेखनीय है कि यह सेवाएँ आम एम्बूलेंस से कहीं ज्यादा उपयोगी सिद्ध हो रही हैं. गंभीर दुर्घटनाओं और आपात स्थितियों में कम समय में पहुँचने की वजह से बड़ी तादाद में लोगों की प्राण रक्षा संभव हुई है. औसत 16 मिनिट की अवधि में दुर्घटना/आपात स्थल तक पहुँचने वाली यह सेवा प्रसवकालीन आकस्मिकता में भी प्रभावी सिद्ध हुई है. 108 एम्बूलेंस सेवा आधुनिकतम कॉल सेंटर के माध्यम से जुड़ी होती हैं. नागरिक एक नि:शुल्क (टोल-फ्री) नंबर 108 पर किसी भी मोबाइल अथवा लैंडलाइन से सीधे सहायता माँग सकते हैं.

यह 108 नंबर बिना कोड के डायल किया जा सकता है. आपात स्थिति में आम लोगों द्वारा इस 108 नंबर पर चाही गई सहायता की सूचना कॉल सेंटर के माध्यम से एम्बूलेंस के वाहन चालक तक तुरंत पहुँचती है. 108 के वाहन चालकों के पास मोबाइल फोन होता है और आपात स्थिति एवं स्थान की समस्त जानकारी लेकर प्रभावित लोगों को तुरंत मदद पहुँचाई जाती है.

Related Posts: