राज्य सरकार की बेटियों की जीवन व कल्याण की अनेक योजनाओं को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने अपना ध्येय बनाकर राज्य भर में लागू कर चुके हैं. हर कन्या के जीवन पर सावधि जमा योजना गरीब वर्ग की कन्याओं का विवाह, शिक्षा सुविधाओं को सतत विस्तारित किया जा रहा है.

यह एक बड़ी सामाजिक चिंता का विषय है कि यदि सामाजिक कुरीति की वजह से स्त्री- पुरुष की आबादी का संतुलन बिगड़ गया तो देश ऐसी विकट स्थिति में आ जायेगी कि यहां मानव जाति ही विलुप्त हो जायेगी. विलुप्त हो रहे शेर के बचाव में ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ में भी इस बात पर पूरा ध्यान रखा जाता है कि वहां इस वन्य प्राणी में नर-मादा का न सिर्फ संतुलन रखा जाये बल्कि मादा टाइगर की संख्या ज्यादा होनी चाहिये. तभी इस प्रजाति को बढ़ाया जा सकेगा. यही स्थिति हर प्राणी पर भी लागू होती है.

अब राज्य में बेटी बचाओ में एक और कार्यक्रम ‘बेटी बचाओ सप्ताह’ जोड़ा गया है. इस वर्ष राज्य में 5 अक्टूबर से 11 अक्टूबर तक मनाया जायेगा. यह सप्ताह दो तिथियों के बीच सेतु का काम करेगा. देश में 5 अक्टूबर को ‘कन्या दिवस’ (डाटर्स डे) मनाया जाता है और 11 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय बालिका शिशु दिवस’ होता है. राज्य सरकार इन दोनों तिथियों के बीच बालिकाओं के संबंधित कई कार्यक्रम मनायेगी. जिला कलेक्टरों को निर्देश भेजे जा चुके हैं. राज्य स्तरीय समारोह की अध्यक्षता मुख्यमंत्री करेंगे और जिलों में प्रभारी मंत्री जिला सम्मेलन करेंगे. उन मीडिया कर्मियों को पुरस्कृत किया जायेगा, जो बालिकाओं से संबंधित समाचार व लेख लिखेंगे. जिन पालकों के केवल कन्या रत्न हैं उनके क्लब बनाये जायेंगे. गत वर्ष 5 अक्टूबर 2011 को ही मुख्यमंत्री ने बेटी बचाओ अभियान शुरू किया था.

संस्थापक : स्व. रामगोपाल माहेश्वरी
प्रधान संपादक : श्री प्रफुल्ल माहेश्वरी

Related Posts: