अभिभावको के आंदोलन के आगेआखिर झुकना ही पड़ा

बैरागढ़ 26 जुलाई (संवाददाता) संत हिरदाराम नगर स्थित कैम्पियन स्कूल प्रबंधन के खिलाफ बच्चो के अभिभावको द्वारा पिछले तीन दिनों से चल रहे आंदोलन बुधवार शाम को खत्म हुआ.

कैम्पियन स्कूल प्रबंधन के आंदोलन की रुपरेखा अभिभावकों ने 9 बजे गुफा मंदिर मे तैयार की.
इसके बाद तीन बजे प्रदर्शन का एहलान किया गया था. आंदोलन का रुख देख स्कूल प्रबंधन ने फीस वृद्धि व अन्य मांगो पर अपना फैसला सुनाया और कहा कि फीस वृद्धि वापिस ली जाती है तब कही जाकर आंदोलन सम्पन्न हुआ. प्राप्त जानकारी अनुसार पिछले तीन दिनो से स्कूल प्रबंधन के खिलाफ बच्चो के अभिभावक आंदोलन का रुख अपनाये हुए था यहा तक इसकी शिकायत जितेन्द्र डागा से भी की थी और कहा था कि स्कूल प्रबंधन बगैर सीबीएसई की मान्यता के अध्ययन करा रहा है जो गलत है.

बुधवार को सात बजे पांच सदस्य टीम बनाई गई जहा स्कूल प्रबंधन ने टीम को चर्चा के लिए बुलाया और अपना पक्ष रखते हुए कहा कि स्कूल प्रबंधन ने जो फीस वृद्धि ली है उसको वापिस ली जाती है साथ ही खेल एवं अन्य शुल्क भी वापिस लिया जाता है तब जाकर आंदोलनकारी अपनी मांग पर अपना रुख अपनाया और कहा कि इसी तरह वे मागो पर अडे रहे तो आगे भी आंदोलन किया जाएगा लेकिन आंदोलन सात बजे खत्म हुआ उधर क्षेत्रीय विधायक जितेन्द्र डागा भी केम्पियन स्कूल पहुंच गये थे और उन्होने स्कूल प्रबंधन को खूब लताड गई और कहा कि अगर वे अपने फीस वृद्धि व अन्य सुविधाएं बच्चो को नहीं दे सकते तो वे इसकी शिकायत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से करेगे और इसकी मान्यता रद्द कराने के लिए शिक्षा मंत्री को पत्र लिख चुके है.

उल्लेखनीय है कि कैम्पियन स्कूल बगैर सीबीएसई मान्यता के बच्चो को पढ़ा रहा है. स्कूल प्रबंधन ने अभिभावको को अश्वस्त किया कि अगले शिक्षा सत्र्र  तक इसकी मान्यता ले लेगे तभी बच्चो को पढाएगे.

अभिभावको का कहना

पांच सदस्य टीम बनाई गई थी जिसमें स्कूल प्रबंधन से चर्चा की गई कि उन्होने लिखित में हमें आश्वसन दिया कि फीस वृद्धि व लायब्रेरी शुल्क वापिस लेते है साथ ही यह भी आश्वासन दिया कि सीबीएसई की मान्यता के बगैर बच्चो को नहीं पढाएगे.
हरविन्दर सिंह, अभिभावक

Related Posts: