एमपीसीए चुनाव में सिंधिया गुट का कब्जा बरकरार

इंदौर, 26 अगस्त. मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव में सिंधिया गुट ने मंत्री विजयवर्गीय गुट को करारा जवाब देते हुए अपना कब्जा बरकरार रखा. शांतिपूर्ण माहौल में सपन्न हुए चुनाव में सिंधिया की सिद्धांत पैनल के सभी उम्मीदवार विजयी हुए. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच चुनाव शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न हुए लेकिन स्टेडियम के बाहर कार्यकर्ताओं के हुड़दंग मचाने पर पुलिस का हल्का सा बल प्रयोग करना पड़ा.

एमपीसीए चुनाव में दिनभर की गहमागहमी के बाद आखिरकार छुटपुट बहस के अलावा पूरी निर्वाचन प्रक्रिया शांतिपूर्ण रही। सिंधिया पैनल को कोर्ट ने भी एक बड़ी खुशी दी। निष्कासित 20 सदस्यों को मतदान में हिस्सा लेने का कोर्ट ने फैसला दिया जिससे सिंधिया गुट में खुशी की लहर दौड़ गई। कुल 238 वोट में से 232 वोट पड़े। शाम पौने सात बजे शुरू हुई मतगणना में शुरू से ही सिंधिया पैनल आगे रहा और अंतत: विजयी हुआ. शांतिपूर्ण रही बैठक – चुनाव के पूर्व वार्षिक सधारण सभा भी शांतिपूर्ण रही. सुबह 11 बजे हुई दोनों गुटों की बैठक में  सब कुछ उम्मीद से  उलटा रहा। एक घंटे चली बैठक के बाद सभी सदस्य बाहर आए तो मामला पूरी तरह से शांत बताया गया। बैठक मताधिकार प्राप्त सभी संसद, विधायक मौजूद थे। बैठक में अश्विन जोशी, रमेश मेंदोला, संसद सज्जनसिंह वर्मा, भंवरसिंह शेखावत आदि बैठक में शामिल हुए।

 

पोस्टर फाड़ा कार्यकर्ताओं पर किया लाठी चार्ज

मतदान खत्म होने के बाद शाम को स्टेडियम से कुछ दूर सड़क पर भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता भारी संख्या जमा हो गए थे. दोनों पक्ष के कार्यकर्ता विजय के नारे लगा रहा थे. जैसे-जैसे सिंधिया के आगे होने की खबर भाजपा कार्यकर्ता तक पहुंची तो वे निराश हो गए. इधर, कांग्रेस के कार्यकर्ता ढोल-ढमाकों के साथ खुशी का इजहार कर रहे थे. इस दौरान रात 9.30 बजे के लगभग भाजपा के किसी कार्यकर्ता ने वहां लगा सिंधिया पैनल का पोस्टर फाड़ दिया और उस पर गोबर फेंक दिया. पुलिस ने यहा माजरा देख उन पर लाठी चार्ज कर उन्हें वहां से खदेड़ दिया. इसमें दो-तीन कार्यकर्ता घायल भी हो गए. यह खबर जब स्टेडियम में बैठे एसएसपी सांई मनोहर तक पहुंची तो वे स्वयं स्थिति का जायजा लेने वहां पहुंचे.

Related Posts: