कांग्रेस आत्म मूल्यांकन करके गलतियों को दूर करती है

भोपाल,18अक्टूबर. केन्द्रीय पर्यटन मंत्री सुबोधकांत सहाय ने आज कहा कि मध्यप्रदेश में वर्ष 2008 के चुनाव में कांग्रेस हारी नहीं बल्कि पिछड गई थी.उन्होंने कहा कि प्रदेश के हित में सत्ता के विकेंद्रीकरण का जो काम कांग्रेस ने किया थो उसके बारे में जनता को ठीक से नहीं बताया जा सका.जिससे ये नौबत आई थी.उन्होने कहा कि अब राजनीति का तौर-तरीका काफी बदल गया है.

जो लडाई पहले वैचारिक आधार पर हुआ करती थी वह अब तिकडमों से लडी जाने लगी है. ऐसे समय में कांग्रेस को अपने कार्यक्षेत्र में परिवर्तन करके ग्राम पंचायत को अपने कार्यक्षेत्रों का केंद्र बनाना होगा. तब ही कांग्रेस मजबूत बन सकेगी और पुन: सत्ता में आएगी. सहाय आज दोपहर बाद प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रदेश पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे. सहाय ने कांग्रेसजनों को संबोधित करते हुए कहा कि आज राजनीति में एक नया दौर चल रहा है. कांग्रेस अब तक विचारों और सिद्धांतों की राजनीति करती आ रही थी. उसने न तो स्वच्छ राजनीति की लक्ष्मण रेखा कभी पार की और न ही साम्प्रदायिकता और क्षेत्रीयता को आधार बनाकर अपनी राजनीति को आगे बढाया.

उन्होने कहा कि अब पार्टी को ऐसे व्यक्तिगत मुद्दों पर घेरने की चेष्टा की जा रही है जो बुनियादी तौर पर बेमानी माने जाते हैं.उन्होने कहा कि कांग्रेस विचारधारा के आधार पर काम करती है.वह समय-समय पर अपना आत्म मूल्यांकन करके गलतियों और कमियों को दूर भी करती है. उन्होने कहा कि कांग्रेस के भीतर जो मोर्चा संगठन काम करते हैं उनमें मैदानी स्तर पर भी एकात्मकता और समन्वय होना चाहिए. यदि ग्राम पंचायत स्तर पर हर वार्ड में निष्ठावान कार्यकर्ता तैयार कर लिये जाएं तो हर मोर्चे पर पार्टी विजयी हो सकती है. ग्राम पंचायत स्तर पर जो कार्य समूह तैयार हो उसका एक मुखिया होना चाहिए. इस मुखिया की बात को सभी कार्यकर्ता बिना हीले-हवाले के मानें और तदनुसार ग्राम पंचायत स्तर पर पार्टी का काम संचालित हो.

आडवाणी अपनी पार्टी के भीतर यात्रा करके शुद्धिकरण करें

केन्द्रीय पर्यटन मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी पहले अपनी पार्टी के भीतर यात्रा करके शुद्धिकरण कर ले.  पत्रकारों से चर्चा के दौरान आडवाणी द्वारा भ्रष्टाचार और काले धन के वापसी के मुद्दे को लेकर निकाली जा रही रथयात्रा के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि भाजपा शासित कर्नाटक  झारखंड जैसे अन्य राज्यों में भ्रष्टाचार सामने आया है.उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के नाम पर हल्ला मचाने वाली भाजपा शासित कर्नाटक राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार के मामले में जेल में है.इसलिए आडवाणी को पहले अपनी पार्टी के भीतर यात्रा करके शुद्धिकरण करना चाहिए

Related Posts: