इंडियन प्रीमियर लीग-5 में फाइनल के लिए पहली भिड़ंत आज, मैच का प्रसारण रात 8 बजे से सेट मैक्स पर

पुणे, 21 मई. आईपीएल-5 की अंकतालिका में शीर्ष दो स्थानों पर रहकर प्लेआफ में प्रवेश कर चुकी टीमें दिल्ली डेयरडेविल्स और कोलकाता नाइटराइडर्स यहां आज सुब्रत राय सहारा स्टेडियम में आमने-सामने होंगी तो उनके सामने टूर्नामेंट के इतिहास में पहली बार फाइनल में पहुंचकर इतिहास रचने का सुनहरा मौका रहेगा.

दोनों ही टीमें अब तक आईपीएल का फाइनल खेलने से वंचित रही हैं लेकिन अब इनमें एक का तो फाइनल में पहुंचना पक्का हो ही गया है. बहुत संभव है कि दोनों टीमें फाइनल में पहुंचकर एक बार फिर से आमने सामने हो जाएं. खास बात यह कि दोनों टीमों की कप्तानी दिल्ली के वे दो दिलेर दोस्त, वीरेन्द्र सहवाग और गौतम गंभीर, कर रहे हैं जो टीम इंडिया के लिए एक साथ खेलकर विपक्षियों के छक्के छुड़ाते हैं लेकिन आईपीएल के शुरुआती तीन सत्रों में दिल्ली के लिए साथ-साथ खेलकर भी टीम को फाइनल तक नहीं पहुंचा सके थे.

दोनों टीमों का अब तक का प्रदर्शन देखें तो इनमें बेहद मामूली फर्क रहा है. इसलिए कहना मुश्किल होगा कि ऊंट किस करवट बैठेगा. दिल्ली ने जहां 16 में से 11 मैच जीते हैं वहीं कोलकाता ने 10 में जीत दर्ज की और एक बारिश में धुल गया. कोलकाता जहां लगातार सात मैचों में जीत दर्ज करने में कामयाब रहा था वहीं दिल्ली के कप्तान वीरेन्द्र सहवाग ने लगातार पांच अर्धशतक जड़कर एक रिकार्ड कायम किया  दिल्ली आईपीएल के पहले दो सत्रों में सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रही थी लेकिन फाइनल में उपस्थिति दर्ज कराने में नाकाम रही थी. तीसरे संस्करण में दिल्ली पांचवें नंबर पर और चौथे में 10 टीमों में अंतिम स्थान पर रही थी.

वहीं कोलकाता का पहले तीन संस्करण में निराशाजनक प्रदर्शन रहा था. हालांकि गौतम गंभीर की अगुआई में टीम पिछले सत्र में एलीमिनेटर में पहुंच कर हारी थी. दोनों टीमें जब पहले क्वालीफायर में भिडेंगे तो उनमें से एक टीम को प्रवेश मिल जाएगा जबकि हारने वाली टीम को होने वाले दूसरे क्वालीफायर का इंतजार करना पड़ेगा. दोनों टीमों के बीच लीग मैचों में मुकाबला 1-1 से बराबर रहा था. दिल्ली ने कोलकाता को उसी के ईडन गार्डन मैदान में 97 रन पर ढेर कर आठ विकेट से जीत हासिल की थी जबकि कोलकाता ने दिल्ली को उसी के फीरोजशाह कोटला मैदान पर छह विकेट से पराजित किया था. अब सभी को इंतजार रहेगा कि दोनों जिगरी दोस्त वीरू और गंभीर को पहले क्वालीफायर में क्या गुल खिलाते हैं. इन टीमों के प्ले आफ के सफर में दोनों कप्तानों ने अपने बल्ले से अहम योगदान दिया है. इस कारण प्ले आफ में उन पर निगाहें टिकी रहेंगी.

एक समय वीरू और गंभीर दोनों ही औरेंज कैप की होड़ में शामिल थे. दोनों फिलहाल औरेंज कैपधारी क्रिस गेल 733 से मीलों पीछे रह गये हैं लेकिन आपसी होड अभी बनी हुई है. वीरू के खाते में 14 मैचों से 484 रन हैं जबकि गंभीर ने 15 मैचों में 556 रन बनाये हैं. दिल्ली में वीरू के अलावा डेविड वार्नर और माहेला जयवद्र्धने ने भी कई मौकों पर उपयोगी पारियां खेली हैं और टीम की नैया पार लगायी है लेकिन कोलकाता की ओर से गंभीर के लुढ़कने पर कोई तारणहार बच नहीं पाया है.

ब्रेंडन मैक्कुलम. जैक्स कैलिस और यूसुफ पठान ने कुछ उपयोगी रन जरूर बनाये हैं लेकिन मैच का रुख मोडऩे वाला इन बल्लेबाजों का जादू अब तक दिखा नहीं है.

टीमें इन खिलाडिय़ों में से चुनी जाएंगी

दिल्ली डेयरडेविल्स- वीरेंद्र सहवाग (कप्तान), अजित अगरकर, इरफान पठान, उमेश यादव, पुनीत बिष्ट, रोबिन बिष्ट, नमन ओझा, शाहबाज नदीम, वेणुगोपाल राव, विकास मिश्र, योगेश नागर, जाफिर पटेल, सनी गुप्ता, तेजस्वी यादव, अविष्कार साल्वी, कुलदीप रावल, मनप्रीत जुनेजा, पवन नेगी, प्रशांत नाईक, आरोन फिंच, आंद्रे रसेल, डग ब्रासवेल, ग्लेन मैक्सवेल, गुलाम बोदी, मोर्नी मोर्कल, रोफ वान डेर मर्व.

कोलकाता नाइट राइडस- गौतम गंभीर (कप्तान), ब्रेंडन मैकुलम, जाक कैलिस, मनोज तिवारी, युसूफ पठान, देबब्रत दास, लक्ष्मीरतन शुक्ला, रजत भाटिया, सुनील नरेन, ब्रेट ली, इकबाल अब्दुल्ला, चिराग जानी, इरेश सक्सेना, जयदेव उनादकट, मानविंद्र बिस्ला, प्रदीप सांगवान, संजू सैमसन, सरबजीत सिंह, मोहम्मद शमी अहमद, ईयोन मोर्गन, मर्चेन्ट डि लांगे, रियान टेन डोइशे और साकिब अल हसन.

Related Posts: