मुंबई। यूरोपीय बाजारों में गिरावट के बीच रुपये की कमजोरी से गुरुवार को बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 405 अंक लुढ़क गया। निवेशकों में आशंका बढ़ी कि रुपये की कमजोरी से आयातकों और सरकार के वित्त पर असर होगा।

इसके चलते विदेशी संस्थागत निवेशकों की पूंजी निकासी से सेंसेक्स में गिरावट आई। पिछले दो सत्रों में 328 अंक का लाभ दर्ज करने वाला सेंसेक्स आज 405.24 अंक या 2.30 प्रतिशत के नुकसान से 17,196.47 अंक पर आ गया। एक समय यह दिन के निचले स्तर 17,136.50 अंक तक गिर गया था। इसी तरह नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 136.50 अंक या 2.54 फीसद के नुकसान से 5,228.45 अंक पर आ गया।

सभी 13 क्षेत्रों के सूचकांक नुकसान में रहे। सेंसेक्स की 30 कंपनियों में से 28 के शेयर नुकसान में रहे, जबकि दो में लाभ दर्ज हुआ। सेंसेक्स की मुख्य कंपनियों में से रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 4.15 प्रतिशत और इन्फोसिस 1.39 फीसद नीचे आया। दोनों का सेंसेक्स में भारांश 20 प्रतिशत का है। ब्रोकरों ने कहा कि रुपये के गिरकर दो माह के निचले स्तर पर आने और 51 रुपये प्रति डालर से नीचे चले जाने से बाजार में बिकवाली का दौर चला। उन्होंने कहा कि यूरोपीय बाजारों में गिरावट से भी यहां धारणा बुरी तरह प्रभावित हुई।

Related Posts: