मुंबई, 3 जुलाई. उतार-चढ़ाव वाले कारोबार के बीच बंबई शेयर बाजार ने मंगलवार को शुरुआती लाभ गंवा दिया और अंत में यह मात्र 27 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ. वैश्विक रुख में मजबूती के बीच टिकाऊ उपभोक्ता सामान, दूरसंचार तथा रीयल्टी कंपनियों के शेयरों में तेजी रही, जबकि आईटी तथा एफएमसीजी कंपनियों के शेयरों में मुनाफावसूली देखने को मिली.

कारोबार के दौरान एक समय सेंसेक्स अपने 10 सप्ताह के शीर्ष स्तर 17,526.82 अंक पर पहुंच गया था. अंत में यह मात्र 26.73 अंक की बढ़त के साथ 17,425.73 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 9.35 अंक की बढ़त के साथ 5,287.95 अंक पर बंद हुआ. सेंसेक्स के 30 शेयरों में भारती एयरटेल, हिंडाल्को, एचडीएफसी और कोल इंडिया सहित 16 में लाभ रहा, वहीं भेल, जिंदल स्टील, टीसीएस तथा आईटीसी सहित 14 कंपनियों के शेयरों में नुकसान दर्ज हुआ.

ब्रोकरों ने कहा कि सुबह के सत्र में रुपए के एक माह के उच्च स्तर 54.86 रुपए प्रति डॉलर पर पहुंचने से कारोबारी धारणा में सुधार हुआ, लेकिन मानसून को लेकर चिंता गहरा रही है. कृषि मंत्री शरद पवार ने कहा कि दो जुलाई तक मानसून की बारिश औसत से 31 फीसदी कम रही है. बोनान्जा पोर्टफोलियो की वरिष्ठ अनुसंधान विश्लेषक शानू गोयल ने कहा कि दोपहर के कारोबार में बाजार में उतार-चढ़ाव का सिलसिला शुरू हो गया और सेंसेक्स नुकसान में पहुंच गया. हालांकि अंतिम आधे घंटे में इसमें सुधार हुआ और अंत में बाजार सीमित लाभ के साथ बंद हुआ. देश के शेयर बाजारों में सोमवार को मामूली गिरावट रही. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 31.00 अंकों की गिरावट के साथ 17,398.98 पर और निफ्टी 0.30 अंकों की गिरावट के साथ 5,278.60 पर बंद हुआ.

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 8.70 अंकों की तेजी के साथ 17,438.68 पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक निफ्टी 4.95 अंकों की तेजी के साथ 5,283.85 पर खुला. बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में तेजी रही. मिडकैप 55.52 अंकों की तेजी के साथ 6,209.24 पर और स्मॉलकैप 71.54 अंकों की तेजी के साथ 6,615.29 पर.

Related Posts: