बलराज संदेश यात्रा का शुभारम्भ, आमजन तक गांव-गांव जाकर पहुंचाया जायेगा संदेश

राजगढ़ 16 जनवरी, नससे.पिछले साल किसानो की पाले में बर्बाद हुई फसलों के मुआवजे के लिये प्रदेश  के  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने दलगत राजनीति से उपर से उठकर केन्द्र से आर्थिक सहयोग की मांग की, तो केन्द्र में बैठे बेशर्म नेतृत्व ने कोई सुध नही ली और प्रदेश के किसानो से सौतेला व्यवहार किया. यह बात सोमवार को प्रदेश के उद्यौग मंत्री कैलाश विजयर्वीय ने नाका न.3 स्थित मंगल भवन प्रांगण में भाजपा किसान मोर्चा द्वारा निकाली जा रही बलराम शिवराज संदेश यात्रा के शुभारंभ अवसर पर  कही. 16 से 21 जनवरी तक निकाली जाने वाली इसयात्रा का उद्देश्य राज्यसरकार द्वारा किसानों के हित में शुरू की गयी योजना की जानकारी पहुंचाना है.

श्री विजयवर्गीय ने कहा की गत वर्ष प्रदेश भाजपा सरकार ने किसानो के पाले से हुये नुकसान की पूर्ती के लिए 14 सौ 50 करोड रूपये बांटे है. वही पूरे भारत मे म.प्र. अकेला ऐसा राज्य है, जहॉ किसानो को 1 प्रतिशत ब्याज पर ऋण दिया जा रहा है. जिले को मिलेगी उद्योग की सौगात-उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने दिग्विजय सिंह को आढे हाथों लेते हुये कहा कि कांग्रेस सरकार के 10 सालो के कार्यकाल में राजगढ़ जिले में एक भी उद्योग नही खुल सका. लेकीन अब जल्द ही जिले को उद्योग की सौगात मिलने जा रही है और ब्यावरा के पास ग्राम काचरी मे 4000 एकड भूमि का चयन भी किया जा चुका है. जिससे राजगढ़ उद्योग शून्य जिला न होकर उद्योग वाले जिले की श्रेणी मे आएगा.छतरपुर. कृषि मंत्री डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया ने कहा कि केन्द्र की यूपीए सरकार जहां मप्र में गलतफहमी फैला रही है वहीं लाखों एकड़ खेतों की सिंचाई क्षमता रखने वाली केन-बेतवा लिंक परियोजना को अधर में लटकाकर राहुल गांधी ने बुन्देलखण्ड के साथ अन्याय किया है. उन्होंने बताया कि खाद के लिए केन्द्र सरकार आवश्यक टेण्डर ही नहीं कर पाई है. इन सारे हालातों से राज्य में खाद की समस्या खड़ी हुई है.

अशोकनगर बलराम संदेश यात्रा के मंच से गृह राज्यमंत्री नारायण सिंह कुशवाह ने केन्द्र की सयुंक्त प्रगतिशील गठबंधन वाली  सरकार को आडे हाथों लेते हुए प्रदेश के साथ सौतेला और मनमाने व्यवहार का आरोप लगाते हुए कहां कि  हमारे प्रदेश में  वैसे तों प्राकृतिक संसाधनों की कमी नही है। किन्तु उत्पाद और कृषि उपज को लेकर उर्वरक एवं विद्युत उत्पादन के लिए कोयले को लेकर हम आश्रित है। और केन्द्र सरकार पर निर्भर होने के कारण देश की यूपीए सरकार हमें  खाद की आपूर्ति जितना चाहिए उतना नही कराती है। बल्कि आवाश्यकता का अल्प हिस्सा ही हमें मिलता है। साथ ही कोयले की आपूर्ति में भी केन्द्र सरकार पर हमारी निर्भरता है। जिससे बिजली उत्पादन की बडी कमी के चलते प्रदेश में किल्लत की स्थिति निर्मित हो जाती है। प्रदेश सरकार को परेशान करने और राज्य के किसानों और विद्युत उपभोक्ताओं को जानबूझकर कृत्रिम संक ट पैदा कर यूपीए सरकार सौतेलेपन से बाज नही आ रही है। टीकमगढ़ राज्यमंत्री हरशंकर खटीक ने बलराम शिवराज संदेश यात्रा को हरी झंडी दिखायी उन्होंने कहा किकि मोटर साईकिलों पर दो दो लोग  बैठकर नजदीकी पांच गांव मे जाकर बलराम शिवराज संदेश यात्रा के बारे में प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे मे  जन जन तक पहुंचायेगे

Related Posts: