नई दिल्ली, 6 जनवरी. पूर्व कानून मंत्री और टीम अन्ना के अहम सदस्य शांति भूषण को बड़ा झटका लगा है।

स्टांप ड्यूटी चोरी के मामले में इलाहाबाद सहायक स्टांप आयुक्त कोर्ट ने उनपर 27 लाख 22 हजार 88 रुपये का जुर्माना लगाया है। शांतिभूषण को ये रकम एक महीने के अंदर चुकानी होगी। जुर्माने के अलावा उन्हें 1 करोड़ 34 लाख 88 हजार रुपये की स्टांप ड्यूटी व उस पर 1.5 फीसदी मासिक ब्याज देने को भी कहा गया है। शांतिभूषण पर इलाहाबाद में एक घर की खरीद के दौरान स्टांप ड्यूटी की चोरी करने के आरोप लगे थे। शांतिभूषण ने इलाहाबाद के सिविल लाइंस में मौजूद एल्गिन रोड के बंगला नंबर 77/29 को करीब एक लाख रुपये में खरीदा था। इस घर में वे पहले से ही रह रहे थे। इसके एवज में शांति भूषण ने करीब 46 हजार की स्टांप ड्यूटी चुकाई थी। लेकिन तत्कालीन सर्किल रेट के मुताबिक इस बंगले का मूल्य करीब 20 करोड़ रुपये था, जिसके आधार पर 1.33 करोड़ रुपये के करीब स्टांप ड्यूटी बनती थी।

अब कोर्ट ने शांति भूषण को ये पूरी स्टांप ड्यूटी, उसपर 1.5 फीसदी मासिक ब्याज और 27 लाख 22 हजार रुपये जुर्माना चुकाने को कहा गया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बीते साल 27 अप्रैल को शांति भूषण को इस बारे में नोटिस जारी किया था। इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए शांतिभूषण ने कहा कि ये राजनीति से प्रेरित कदम लगता है। मैं इसके खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करूंगा। दिग्विजय सिंह ने ये आरोप मुझपर तब लगाए थे जब हम लोकपाल की ज्वाइंट ड्राफ्टिंग कमेटी में शामिल हुए थे। इसलिए मुझे लगता है कि कांग्रेस के दबाव में ये कार्रवाई की हुई हो सकती है।

Related Posts: