नई दिल्ली, 8 दिसंबर, नससे. उत्तरप्रदेश सरकार को कठघरे में खड़े करने के बाद कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश की भाजपाई सरकार पर भी निशाना साधा है. उन्होंने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में गरीबो की आवाज नहीं सुनी जाती है. उन्होंने कहा कि गरीब जनता के पास बहुत ज्ञान और जानकारी है.

स्वयंसेवी संगठन एक्शन एड और बुंदेलखंड आपदा निवारण मंच की ओर से पैकेज के तहत योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर अध्ययन किया गया है. अध्ययन के नतीजों और पीडि़तों की आवाज को सत्ता तक पहुंचाने के लिए राजधानी में बुंदेलखंड जन सुनवाई का आयोजन किया गया जिसमें केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री प्रदीप जैन और योजना आयोग के सदस्य और बुंदेलखंड पैकेज के प्रभारी मिहिर शाह भी मौजूद थे. श्री गांधी ने इस अवसर पर आकर पीडि़त लोगों की कहानी सुनी. उन्होंने कहा कि पैकेज आपके लिए भेजा गया, क्यों भेजा गया, क्योंकि बुंदेलखंड में सूखा था पलायन था. लेकिन दुख की बात है कि इसका क्रियान्वयन ठीक ढंग से नहीं हो रहा. उन्होंने कहा कि वह पैसा आपका है न ही वह दिल्ली की सरकार का है, न ही राज्य सरकारों का. इससे जो फायदा मिलना चाहिए वह नहीं मिला.

उन्होंने कहा कि पैकेज के तहत जारी धन राशि का सही ढंग से हो इसके लिए दिल्ली की सरकार जो कार्रवाई कर सकती  है वह हम जरूर करेंगे. उन्होंने कहा कि पिछले दिनों योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया बुंदेलखंड के दौरे पर गए थे और उन्होंने इसका मूल्यांकन किया है. उन्होंने कहा कि मेरे पिता राजीव जी कहा करते थे कि एक रुपये में से जरूरत मंद तक केवल दस पैसा पहुंचता है लेकिन आज ऐसा सिस्टम बनाने की जरूरत है जिसमें अगर केंद्र से एक रुपया भेजा जाता है तो आप तक वह एक रुपया पहुंचे. उन्होंने कहा कि पहले बहुत सारे प्रोग्राम बनते थे जिस कारण उनका ठीक तरीके से क्रियान्वयन नहीं हो पाता था लेकिन केंद्र सरकार ने एक बड़ी योजना और अन्य कुछ कदम उठाए हैं. इसी के तहत मनरेगा जैसे कार्यक्रम शुुरू किया गया. उन्होंने कहा कि मनरेगा का लाभ आंधप्रदेश राजस्थान में गरीबों तक पहुंच रहा है लेकिन अन्य राज्यों में ऐसी स्थिति नहीं है. उन्होंने कहा कि इसी क्रम में आधार कार्ड जारी करने की योजना चली रही है ताकि योजनाओं का लाभ जरूरत मंदों तक पहुंचे.

Related Posts: