एनडीएमसी सेंटर में कृषि मंत्री शरद पवार पर हमला

नई दिल्ली, 24 नवंबर. कृषि मंत्री शरद पवार को गुरुवार को एक युवक ने थप्पड़ मार दिया. इस युवक का कहना था कि वह भ्रष्टाचार और महंगाई से नाराज है. पवार गुरुवार को  दिल्ली में एनडीएमसी सभागार में आयोजित ‘श्रीलाल शुक्ल स्मृति इफको साहित्य समारोह’ में शिरकत करने पहुंचे थे. समारोह के समापन के बाद बाहर निकलते वक्त हरविंदर सिंह नाम के युवक ने उन्हें थप्पड़ मारा.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख को थप्पड़ मारने वाला यह युवक पेशे से ट्रांसपोर्टर है. इस युवक ने ही बीते शनिवार को रोहिणी की अदालत में पूर्व दूर संचार मंत्री सुखराम पर भी हमला किया था. उस दिन सुखराम को घोटाले के मामले में सजा सुनाई गई थी. युवक के थप्पड़ मारे जाने के बाद पवार थोड़ा असंतुलित हो गए, हालांकि कोई प्रतिक्रिया किए बगैर सभागार से बाहर निकल गए. इस घटना के तत्काल बाद सभागार में मौजूद निजी सुरक्षा गार्डों ने युवक को पकड़ लिया. यह युवक ‘वह भ्रष्ट है’ कह रहा था. एक अधिकारी ने इस युवक को कुछ घूंसे जड़े. हरविंदर ने ‘मैं यहां मंत्री  को थप्पड़ को मारने की योजना बनाकर आया था. ये सभी भ्रष्ट हैं. इस युवक ने कृपाण भी निकाली और कहा कि अगर आज गुरु तेग बहादुर का शहीद दिवस नहीं होता तो कुछ भयावह हो सकता था.

* घटना की पूरे देश में निंदा *

आरोपी पर धारा 309, 323, 353, 506 के तहत धमकी देने, मारपीट करने, खुदकुशी की कोशिश करने और आपराधिक मंशा रखने का मामला दर्ज.

  • नीतीश कुमार ने थप्पड़ मारने की निंदा की. कहा-ये गलत प्रवृत्ति है. महंगाई से हम भी चिंतित लेकिन विरोध का ये तरीका गलत– ममता बनर्जी
  •  ये थप्पड़ शरद पवार को नहीं, जनतंत्र को पड़ा है- अन्ना हजारे
  • मेरे बयान का नतीजा नहीं है पवार पर हमला.  सरकार को जांच करनी चाहिए कि आखिर ऐसे मंत्री कि सुरक्षा में चूक कैसे हुई – यशवंत सिन्हा

प्रधानमंत्री ने हमले की निंदा की

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गुरुवार को केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार से बात की और उन पर हुए हमले की निंदा की. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया – प्रधानमंत्री ने पवार से बात की है और उन पर हुए हमले की निंदा की है. उल्लेखनीय है कि हरविंदर सिंह नाम के इस युवक ने ही पिछले दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम पर हमला किया था.

 

घटना मूखर्तापूर्ण है : पवार
बाद में इस घटना पर पवार ने कहा कि यह मूखर्तापूर्ण है और इसे बारे में वह कुछ नहीं कहना चाहते. यह पूछे जाने पर कि वह इस युवक के खिलाफ मामला दर्ज कराएंगे तो कृषि मंत्री ने कहा कि इस मामले को पुलिस को देखना है.

घटना निंदनीय: भाजपा
घटना की पुरजोर निंदा करते हुए भाजपा ने कहा है कि किसी प्रकार से इस घटना को उचित नहीं ठहराया जा सकता है. सुषमा स्वराज ने कहा कि शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेता के साथ इस प्रकार की घटना की जितनी निंदा की जाय उतनी कम है. कांग्रेस द्वारा यशवंत सिन्हा के बयान का प्रतिफल इसे बताना उचित नहीं है. श्रीमती स्वराज कहा कि पार्टी हिंसा की पक्षधर नहीं है.

घटना के लिए भाजपा दोषी : कांग्रेस
कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अलवी ने इस घटना के लिए भाजपा के मंगलवार के उस बयान को जिम्मेदार ठहराया कि महंगाई लगातार जारी रहने से लोगों का गुस्सा हिंसा का रूप भी ले सकता है। अलवी ने कहा, ‘भाजपा ने एक बयान दिया था। वह बयान ही आज की घटना के लिए जिम्मेदार है।

विपक्ष ने भी की हमले की निंदा
राजनीतिक दलों ने भी पवार को थप्पड़ मारे जाने की घटना की निंदा करते हुए कहा कि इस तरह की हरकत को लोकतंत्र में स्वीकार नहीं किया जा सकता। विपक्षी दलों ने कहा कि सरकार को भ्रष्टाचार एवं महंगाई से निपटने के लिए गंभीर होना चाहिए।

Related Posts: