हॉस्टल के दिन सबके लिए यादगार होते हैं। फिर चाहे वह कोई सेलिब्रिटी हो या कोई आम आदमी। अगर आप भी चाहते हैं कि आपके हॉस्टल के दिन खूबसूरत बने रहें, तो कुछ बातों का ध्यान रखें

शेयरिंग एंड ऐडजस्टमेंट
यहां रहने से शेयरिंग हैबिट भी डिवेलप होती है। साथ ही ऐडजस्टमेंट की सबसे बेहतर क्लासेज भी यहीं मिलती हैं। आप लाइफ में फ्रेंडशिप अपनी चॉइस से करते हैं, लाइफ पार्टनर भी खुद चुनते हैं, लेकिन रूममेट को चुनना आपके अधिकार में नहीं होता। ऐसे में उसके साथ ऐडजस्ट करना कोई छोटी-मोटी बात नहीं। हो सकता है कि किसी और स्टेट या रीजन से आए रूममेट के साथ सामंजस्य बिठाने में आपको शुरू में थोड़ी तकलीफ हो, लेकिन लॉन्ग टर्म में यह आपके लिए लर्निंग एक्सपीरियंस साबित होगा।

न करें इरिटेट
लाउड म्यूजिक न बजाएं। ईयरफोन यूज करें। और हां, फोन या मेसेज की रिंगटोन अक्सर दूसरों को इरिटेट करती है। इसलिए इनके वॉल्यूम को भी मैक्सिमम पर न रखें। फोन पर पर्सनल बातें चिल्ला-चिल्लाकर न करें। दूसरों की पर्सनल बातें भी कान लगाकर न सुनें। और अगर सुन भी लिया, तो उसका प्रचार न करें। अक्सर बड़े झगड़ों की वजह ऐसी छोटी बातें ही होती हैं। अगर कॉमन टीवी है, तो वहां भी डेमोक्रेसी बरकरार रहने दें।

सेफ्टी चेक
रूम को लॉक किए बगैर बाहर न निकलें। अपने क्लोद्स और एक्सपेंसिव आइटम्स पर नजर रखें। सुनने में यह भले ही आपको कड़वा लगे, लेकिन हॉस्टल में पलक झपकते आपकी चीजें चोरी हो सकती हैं। अपनी हर रोज के जरूरत की चीजों फेस वॉश , लोशन और शैंपू वगैरह को भी फेंककर न रखें। वरना आपके हॉस्टल मेट्स इन्हें यूज करके खत्म कर देंगे और जरूरत पडऩे पर आप मुंह देखते रह जाएंगे। आप भी दूसरों की चीजें यूज न करें और अपनी प्राइवेसी रखें।

कॉन्टैक्ट नंबर
अपने पैरंट्स के टच में रहें , इससे आपको होम सिकनेस नहीं होगी। हॉस्टल कॉन्टैक्ट नंबर के अलावा , अपने रूममेट और अच्छे फ्रेंड्स का सेल नंबर अपने पैरंट्स को दे दें। अगर कभी आपका फोन नॉट रीचेबल हुआ तो आपके पैरंट्स को आपको कॉन्टैक्ट करने में आसानी होगी।

स्टडी पर फोकस
अपने हॉस्टल मेंबर्स के लिए फ्रेंडली और हेल्पफुल रहें। लेकिन किसी के भी पर्सनल मामलों में दखल न दें। हां , अगर आपके रूममेट्स आपकी स्टडी में जान – बूझकर डिस्टर्ब कर रहे हैं , तो उन्हें समझाएं। अगर इससे भी काम नहीं चलता , तो अपने हॉस्टल वार्डन को बताने में देरी न करें।

पार्टिसिपेट करें
अपने आप में खोए – खोए से न रहें। हॉस्टल में होने वाले फंक्शंस में पार्टिसिपेट करें। इससे आपकी ही पर्सनैलिटी डिवेलप होगी।

हेल्दी स्नैक्स
हॉस्टल में कई राज्यों से बच्चे आते हैं और सबका टेस्ट भी अलग होता है। जाहिर है कि ऐसे में मेस का खाना अक्सर सबको पंसद नहीं आता। बेहतर होगा कि आप अपने साथ कुछ हेल्दी स्नैक्स , ड्राई फ्रूट्स और पैकेज्ड फूड आइटम्स अपने साथ रखें। अगर आपको लेट नाइट स्टडी करने की आदत है , तब भी ये स्नैक्स आपको एनर्जेटिक फील कराएंगे।

न करें शो ऑफ
सबके साथ सिंपल और स्वीट बने रहें। फ्रेंडली बिहेव करें। आपके हॉस्टल का वार्डन चाहे कितना भी खड़ूस हो , उससे रिलेशन न बिगाड़ें। क्योंकि अगले 3-4 साल तक आपको उनकी  छत्रछाया  में ही रहना है। अपनी एक्सपेंसिव चीजों को शो ऑफ न करें। अपने फैंसी मोबाइल या दूसरे गैजट्स को अपना स्टेटस सिंबल न बनाएं।

Related Posts: