कम हो सकती है सिब्बल, वर्मा, जोशी, वयलार और मोइली की जिम्मेदारी

नयी दिल्ली, 24 सितंबर, नससे.कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर सोमवार को वरिष्ठ नेताओं के साथ कई बैठकें की। पार्टी नेतृत्व 2014 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सुधारों को आगे बढ़ाने के एजेंडे को ध्यान में रखते हुए बड़ा बदलाव चाहता है।

सरकार में फेरबदल को लेकर आज संप्रग की मुखिया सोनिया गांधी ने कई कांग्रेसी नेताओं से मुलाकात की है. सूत्रों के अनुसार श्रीमती सोनिया गांधी से मुलाकात कैबिनेट में होने वाले बदलाव को लेकर ही है. श्रीमती सोनिया गांधी के दस जनपथ स्थित निवास पर उनसे मुलाकात करने वालों में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री सीपी जोशी शामिल थे. तृणमूल कांग्रेस के संप्रग से नाता तोडऩे और मुकुल राय सहित उसके मंत्रियों के इस्तीफा देने के बाद जोशी को रेल मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है. जोशी ने आज ही रेल मंत्रालय का कामकाज संभाला है. श्रीमती गांधी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण से भी मुलाकात की.

चव्हाण का नाम भी कैबिनेट में शामिल होने वाले नये मंत्रियों के रूप में लिया जा रहा है.
कांग्रेस के महाराष्ट्र मामलों के प्रभारी मोहन प्रकाश भी सोनिया गांधी से मिले. कांग्रेस अध्यक्ष ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री गुलाम नबी आजाद पार्टी के कोषाध्यक्ष मातीलाल वोरा और अपने राजनीतिक सचिव अहमद पटेल से भी चर्चा की. तृणमूल कांग्रेस के छह मंत्रियों के इस्तीफा दिये जाने के बाद पश्चिम बंगाल के दो तीन कांग्रेस नेताओं को केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में जगह मिलने की उम्मीद की जा रही है. मंत्रिमंडल में कई ऐसे वरिष्ठ मंत्री हैं जो दो दो मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं इनमें कपिल सिब्बल बेनी प्रसाद वर्मा सीपी जोशी वयलार रवि और वीरप्पा मोइली शामिल हैं. संभावित फेरबदल में इन मंत्रियों की जिम्मेदारी को कम किया जा सकता है.

Related Posts: