भोपाल, 1 सितंबर. भारतीय स्टेट बैंक के स्थानीय प्रधान कार्यालय में मुख्य महाप्रबंधक दिनेश कुमार खारा ने राजभाषा मास का शुभारंभ किया.

इस अवसर पर खारा ने स्टाफ सदस्यों को बैंकिंग कामकाज में हिंदी भाषी क्षेत्र होने के कारण भोपाल मण्डल में बैंक के व्यवसाय को बढ़ाने में हिंदी की महत्वपूर्ण भूमिका है. उन्होने कहा कि हिंदी का प्रयोग हमारी संवैधानिक जिम्मेदारी है और इसीलिए स्टॉफ सदस्यों को हिंदी का प्रयोग करने हेतु प्रोत्साहित व प्रशिक्षित करने के लिए बैंक द्वारा राजभाषा मास मनाया जाता है. खारा ने स्टॉफ सदस्यों से आव्हान किया कि वे इस मास के दौरान आयोजित की जाने वाली गतिविधियों व प्रतियोगिताओं में उत्साहपूर्वक भाग लें. इस अवसर पर महाप्रबंधक यशोवर्धन सिन्हा, वी मधुसूदन राव, एवं व्ही एस ओहरी सहित वरिष्ठï अधिकारी एवं स्टॉफ सदस्य उपस्थित थे.

बैंक ऑफ इंडिया को  मिला प्रथम पुरस्कार

बैंक ऑफ इंडिया को नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति द्वारा राजभाषा का प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ. साधना त्रिपाठी सहायक निदेशक राजभाषा विभाग गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा राजभाषा का प्रथम पुरस्कार अंचल के आंचलिक प्रबंधक राजीव कुमार गुप्ता को प्रदान किया गया.  पुरस्कार वितरण कार्यक्रम के दौरान बैंक ऑफ इंडिया के स्टाफ सदस्यों को भी हिन्दी में उत्कृष्ट कार्य के लिये पुरस्कृत किया गया. हिन्दी में श्रेष्ठï कार्य निष्पादन के लिये राजगोपाल के. अय्यंगार वरिष्ठï प्रबंधक तारासेवनिया शाखा व आंचलिक कार्यालय की भारती दामनी, ऋषिकेश गावड़े को पुरस्कृत किया गया.

अंचल के राजभाषा अधिकारी अमरीश कुमार ने राजभाषा के प्रथम पुरस्कार का प्रमाण पत्र प्राप्त किया. इस अवसर पर आंचलिक प्रबंधक राजीव कुमार गुप्ता ने अपने संबोधन में हिन्दी की महत्ता पर प्रकाश डाला और हिन्दी में काम करने को हमारा नैतिक दायित्व बताया.

Related Posts: