मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को विशेष निर्देश

भोपाल,17 अप्रैल,प्रदेश में “स्वाइन फ्लू” से निपटने की पूर्ण रूप से की गई तैयारियों से अभी तक किसी प्रकार की विपरीत स्थिति निर्मित नहीं हुई है. स्वाइन फ्लू पर सतत निगरानी रखी जा रही है. इस संबंध में सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश जारी किये गये हैं.

स्वाइन फ्लू की आशंका वाले अभी तक कुल 24 मरीज पाये गये हैं. इनमें केटेगरी सी के 23 मरीज थे. इस केटेगरी के एक मरीज की जानकारी 16 अप्रैल को भी मिली, जो नेशनल हॉस्पिटल भोपाल में उपचाररत है. जाँच में स्वाइन फ्लू के लक्षण वाले सभी मरीज को समय पर उपयुक्त उपचार मिल जाने से वे अब स्वस्थ हैं. अभी तक इस बीमारी से एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है.

प्रदेश के समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को “स्वाइन फ्लू” से बचाव के संबंध में निर्देश दिये गये हैं. इनमें सभी जिलों में सभी डॉक्टर्स को अलर्ट करने को कहा गया है. किसी भी फ्लू केस के लिये सस्पीशन इंडैक्स अधिक रखा जाये. रोग की आशंका होने पर ओसल्टेमीविर (टेमी फ्लू) शुरू किया जाये. विशेष तौर से बच्चों, गर्भवती महिलाओं और घातक बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को फ्लू होने पर अधिक सतर्कता बरती जाने को कहा गया है. निर्देशों में कहा गया है कि जिलों में पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट (पी.पी.ई.) मास्क बी.टी.एम. तथा दवाइयों की पर्याप्त मात्रा की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये. सभी बी एवं सी केटेगरी के मरीज का सैम्पल टेस्ट पुष्टि के लिये भेजे जाने के निर्देश दिये गये हैं. जिन स्थानों पर एक्यूरेस्पीरेट्री इन्फेक्शन के प्रकरण ज्यादा आ रहे हों वहाँ ज्यादा ध्यान रखने को कहा गया है.

Related Posts: