• प्रमोशन में आरक्षण

    homeequityloanss.com

नई दिल्ली, 5 सितंबर. प्रमोशन में आरक्षण को लेकर  आज जहां एक ओर राज्यसभा में हाथापाई तक की नौबत आ गई वहीं दबसरी ओर यूपी में 18 लाख कर्मचारी हड़ताल पर चले गए.

सरकारी नौकरियों में पदोन्नति में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को आरक्षण देने संबंधी विधेयक को सरकार ने बुधवार को राज्यसभा में पेश कर दिया. हालांकि इस विधेयक को सदन में पेश करने के दौरान जमकर हंगामा हुआ. इस बिल को पेश करने के दौरान गतिरोध बढऩे पर कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया. सदन में हंगामे के दौरान आरक्षण बिल को लेकर सपा और बसपा सांसदों के बीच जमकर बहस हुई और दोनों दलों के नेताओं में हाथापाई भी हुई. गौर हो कि इस विधेयक को मंगलवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी प्रदान कर दी.

जब बिल पेश हो रहा था तब बीएसपी के सांसद अवतार सिंह करीमपुरी औऱ एसपी सांसद नरेश अग्रवाल के बीच हाथापाई हो गई. नरेश अग्रवाल संसदीय कार्य राज्यमंत्री नारायणसामी को रोकने के लिए जा रहे थे. तभी बीएसपी के अवतार सिंह ने उन्हें रोकने की कोशिश की. ये पहला मौका है जब राज्यसभा में मारपीट की नौबत आई हो.केंद्र सरकार की नौकरियों में प्रमोशन में रिजर्वेशन के खिलाफ यूपी सरकार के 18 लाख कर्मचारी आज हड़ताल पर हैं. हालांकि इमरजेंसी सेवाओं को हड़ताल से अलग रखा गया है. कर्मचारियों के ज्यादातर संगठन जातीय आधार पर प्रमोशन के आरक्षण का विरोध कर रहे हैं. वहीँ यूपी राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद् इसका समर्थन कर रहा है. उनका कहना है तमाम जगह इसके चलते पद खाली चल रहे हैं. उनके मुताबिक ऐसे में जातीय आधार पर प्रमोशन से उन खाली पदों को भरा जा सकता है. इस बिल के समर्थन में इस संगठन ने चार घंटे ज्यादा काम करने का एलान किया है.

समाजवादी पार्टी प्रमोशन में रिजर्वेशन देने का विरोध कर रही है. अब समाजवादी पार्टी ने बीजेपी से संपर्क किया है कि वो इसका विरोध करे. समाजवादी पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव ने राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली से बात की है. कल मायावती सुषमा स्वराज से मिली थीं ये कहने के लिए कि बीजेपी प्रमोशन में रिजर्वेशन का समर्थन करे. मायावती प्रमोशन में रिजर्वेशन की जोरदार वकालत करने वालों में से हैं. बीजेपी ने अभी तक अपनी रणनीति का खुलासा नहीं किया है कि वो क्या करने वाली है. बीजेपी का कहना है कि सरकार कोयला घोटाले से ध्यान बांटने के लिए प्रमोशन में रिजर्वेशन लेकर आई है. हालांकि बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने साफ कर दिया है कि वो प्रमोशन में रिजर्वेशन देने के खिलाफ है.

आज से पूरे राज्य में पानी बंद

देहरादून। पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ जल संस्थान कर्मचारी भी झंडा बुलंद करने की तैयारी में हैं। पांच सितंबर को जल संस्थान के विभिन्न कर्मचारी संगठनों की इस मसले पर संयुक्त बैठक होगी। इसमें आंदोलन के बारे में निर्णय लिया जाएगा। संभावना जताई जा रही है कि छह सितंबर से कर्मचारी भी हड़ताल में शामिल हो जाएंगे। पदोन्नति में आरक्षण मसले पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करने की मांग पर शिक्षकों समेत विभिन्न विभागों के कर्मचारी इन दिनों आंदोलन पर हैं।

आवश्यक सेवा को देखते हुए जल संस्थान कर्मी अब तक इससे दूर थे। लेकिन, अब वे भी हड़ताल पर जा सकते हैं। उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संगठन के प्रदेश महामंत्री गजेंद्र कपिल ने बताया कि बुधवार को दून के दिलाराम स्थित वाटर वर्क्स में प्रदेश भर से सभी संगठनों के पदाधिकारी बैठक में शामिल होंगे। इसके बाद हड़ताल की रणनीति तय की जाएगी। कपिल ने बताया कि हड़ताल हुई तो पूरे प्रदेश में जल संस्थान के 80 फीसदी कर्मचारी काम पर नहीं आएंगे। इसका सीधा असर पेयजल व्यवस्था और राजस्व वसूली जैसे कार्यों पर पडऩा तय है।

zp8497586rq

Related Posts: