भोपाल,14 सितंबर. भोपाल संभाग कमिश्नर प्रवीण गर्ग ने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि वह निजी शिक्षण संस्थाओं में संचालित हो रहे वाहनों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दें . इस कार्रवाई में सर्वोच्च न्यायालय की गाइड लाईन का पालन किया जाये .

इस कार्य में तेजी लाने के लिए परिवहन विभाग की संयुक्त टीमें गठित की जाकर कार्रवाई की जाये . यह कार्रवाई 30 सितम्बर,12 तक पूर्ण कर ली जाये. उन्होंने निर्देश दिए कि एलपीजी से चलने वाले वाहनों की सख्ती से जांच की जाये . निजी शिक्षण संस्थाओं में छात्र-छात्राओं को ले जाने के लिए टाटा मैजिक, मारूति वेन और इसी प्रकार के अन्य वाहनों का उपयोग होता है . ऐसे वाहन ना तो शैक्षणिक संस्थाओं के स्वामित्व में पंजीकृत हैं न ही शैक्षणिक संस्था से अनुबंधित हैं और ना ही व्यावसायिक प्रयोजन के लिए पंजीकृत होते हैं . इन वाहनों के लिए माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा प्रसारित सुरक्षा निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें. कमिश्नर गर्ग ने निर्देश दिए कि संभाग के अंतर्गत संचालित यात्री वाहन जो विद्यार्थियों को लाने ले जाने का कार्य भी करते हैं, को तत्काल चिन्हित करें.

उक्त वाहन जो शैक्षणिक संस्था के स्वामित्व की है अथवा शैक्षणिक संस्था में अनुबंधित होकर संचालित हो रही है उन वाहनों में भी माननीय सर्वोच्च न्यायालय की गाइड लाईन का पालन सुनिश्चित कराएं. कमिश्नर गर्ग ने संयुक्त संचालक लोक शिक्षण को निर्देशित किया कि शिक्षण संस्था के प्राचार्य द्वारा बसों के अलावा अन्य साधन से आने वाले बच्चों की सूची, स्कूल बस के अतिरिक्त अन्य साधन से आने वाले वाहन की संख्या क्रमांक तथा प्रभारी शिक्षक का नाम और अन्य साधन में उपयोग किए जाने वाले ईधन आदि की जानकारी संभागायुक्त कार्यालय में तत्काल उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें .

Related Posts:

नाबालिग प्रेमी-प्रेमिका ने रेल से कटकर दी जान
साँची बुद्धिस्ट यूनिवर्सिटी के शिलान्यास पर दो राष्ट्रों के प्रतिनिधि होंगे शामि...
मुख्यमंत्री चौहान द्वारा महाशिवरात्रि पर पूजा-अर्चना
रोजगार दिलाने वाली हो शिक्षा:गुप्ता
महिला मंत्री ने मासूम को मारी लात!
ग्रामीण विस्तार अधिकारियों ने सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा