लखनऊ, 13 अप्रैल. उत्तर प्रदेश सरकार ने करीब दो साल पहले कानपुर में एक नाबालिग युवती का शारीरिक शोषण करने के आरोप में प्रतापगढ़ के पुलिस उपाधीक्षक अमरजीत सिंह शाही को आज निलंबित कर दिया.

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मिली रिपोर्ट के आधार पर पुलिस महानिदेशक के प्रस्ताव के अनुसार निलंबन और विभागीय कार्रवाई का आदेश दिया. जांच में पाया गया कि पुलिस उपाधीक्षक का आचरण अपराध और दुराचार की श्रेणी में आता है. शाही का आचरण सरकारी सेवक नियमावली 1956 के प्रावधानों के प्रतिकूल और राजपत्रिक कर्मचारी की गरिमा के अनुकूल नहीं है. शाही के खिलाफ मामला उस वक्त सामने आया जब कानपुर में पिछले महीने वायुसेना के एक अधिकारी की बेटी ने आत्महत्या की कोशिश की और अपने पिता और कुछ अन्य लोगों पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया. युवती के पिता ने इसके लिए तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक अमरजीत सिंह शाही को जिम्मेवार ठहराया.

कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक ने इस मामले का संज्ञान लेते हुये जांच शुरू की और शाही को दोषी माना इस मामले में सामाजिक संगठन और अन्य लोगों ने भी अमरजीत सिंह शाही के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी.

Related Posts: