• शहला हत्याकांड

इंदौर, 30 मार्च. आरटीआई कार्यकर्ता शहला मसूद की हत्या के मामले में गिरफ्तार कथित शूटर तबिश खान को शुक्रवार को विशेष सीबीआई कोर्ट ने 11 अप्रैल तक के लिए जुडिशल कस्टडी में भेज दिया.

अदालत ने उसे 48 घंटे के अंदर यह भी बताने को कहा है कि वह मैजिस्ट्रेट के समक्ष अपना बयान दर्ज कराने को इच्छुक है या नहीं. तबिश एक अन्य आरोपी शाकिब अली डेंजर का चचेरा भाई है. उसे इंदौर में विशेष सीबीआई अदालत में पेश किया गया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अदालत ने तबिश से 48 घंटे के अंदर यह बताने को कहा है कि क्या वह मैजिस्ट्रेट के समक्ष सीआरपीसी की धारा 164 के तहत अपना बयान दर्ज कराने को इच्छुक है या नहीं. केंद्रीय एजेंसी ने अदालत के समक्ष दलील दी है कि तबिश को एक मैजिस्ट्रेट के समक्ष अपना बयान दर्ज कराने के लिए कहा जा सकता है. सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दिए गए बयान का इस्तेमाल साक्ष्य के रूप में आरोपी के खिलाफ किया जा सकता है.

तबिश को इस महीने के शुरुआत में कानपुर स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया था और बाद में उसे इंदौर केंद्रीय जेल भेज दिया गया. अदालत ने 26 मार्च को चार अन्य आरोपियों की जुडिशल कस्टडी की अवधि तीन अप्रैल तक के लिए बढ़ा दी थी. इन लोगों में इंटीरियर डिजाइनर जाहिदा परवेज, उसकी सहयेगी सबा फारूकी तथा शाकिब और इरफान शामिल हैं. पिछले साल 16 अगस्त को शेहला (32) की उसके घर के बाहर गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. सीबीआई मामले की जांच कर रही है.

Related Posts: