इस्लामाबाद, 11 जुलाई. तालिबान से जुड़े आतंकवादियों ने सोमवार को पाकिस्तानी सेना के शिविर पर हुए हमले की तरह सैनिकों तथा सरकारी प्रतिष्ठानों पर और हमले करने की धमकी दी है। पाकिस्तानी सेना के शिविर पर हुए हमले में आठ सैनिक मारे गये थे।

पुलिस को पंजाब प्रांत के गुजरात शहर के पास सोमवार को हुए हमले के स्थल से एक पर्चा मिला है जिसमें चेताया गया है कि अगर अफगानिस्तान जाने वाले नाटो आपूर्ति मार्गों को बंद नहीं किया गया तो आतंकवादियों द्वारा और हमले किये जाएंगे। खुफिया एजेंसी की एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया कि सुरक्षाकर्मियों पर हमले में शामिल प्रतिबंधित तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान से जुड़े आतंकवादी सरकारी प्रतिष्ठानों पर और हमले की योजना बना रहे हैं। सोमवार को हुए हमले पर एजेंसी की रिपोर्ट में कहा गया कि गै

रपंजीकृत एक मोटरसाइकिल टाइम बम के साथ पाई गई और हमले के बाद इस बम को निष्क्रिय कर दिया गया।

हमले के बाद वहां मौजूद ग्रेनेड फटा लेकिन इससे कोई जान माल का नुकसान नहीं हुआ। रिपोर्ट में कहा गया कि पुलिस को एक पर्चा मिला है जिसमें धमकी दी गई है कि नाटो आपूर्ति मार्ग फिर से खोलने के कारण भविष्य में आतंकवादी गतिविधियां जारी रहेंगी। कार और मोटरसाइकिलों की मदद से आतंकवादियों के समूह ने सोमवार की सुबह चेनाब नदी के किनारे सेना के शिविर पर हमला किया था जिसमें सात सैनिक और एक पुलिसकर्मी मारे गये थे। मीडिया में आई खबरों के अनुसार, तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

पुलिस अधिकारी सईद वराइच ने कहा कि आतंकवादियों ने पर्चे के जरिये लोगों को आगाह किया है कि वे पुलिस, सुरक्षा बलों और खुफिया विभाग के अधिकारियों से दूर रहें क्योंकि नाटो आपूर्ति मार्गों को फिर से खोलने के कारण पाकिस्तान खासकर पंजाब में हर जगह उनके हमले जारी रहेंगे।

zp8497586rq

Related Posts: