आवेदन 10 जून तक जिला शिक्षा केन्द्र डी ब्लाक पुराना सचिवालय में कार्यालयीन समय में प्रस्तुत किये जा सकेंगे

भोपाल,5 जून, भोपाल जिले की शिक्षा गारंटी शालाओं में कार्यरत गुरूजी और औपचारिक शिक्षा के अनुदेशक,पर्यवेक्षक जिन्होंने व्यवसायिक परीक्षा मंडल द्वारा आयोजित द्वितीय गुरूजी पात्रता परीक्षा वर्ष 2009 में अर्हता प्राप्त कर ली है वह संविदा शाला शिक्षक वर्ग तीन के लिये आवेदन कर सकते है.

जिला परियोजना समन्वयक ने बताया कि इक्कीस अप्रेल 1999 के पूर्व औपचारिक शिक्षा केन्द्रों के अनुदेशक,पर्यवेक्षक और 19 जुलाई 2005 के पूर्व शिक्षा गारंटी शाला में गुरूजी के पद पर कार्यरत ऐसे आवेदक जिन्होंने व्यवसायिक परीक्षा मंडल द्वारा आयोजित द्वितीय गुरूजी पात्रता परीक्षा वर्ष 2009 में अर्हता प्राप्त कर ली है वह संविदा शाला शिक्षक वर्ग तीन के लिये आवेदन कर सकते है. संविदा शाला शिक्षक वर्ग तीन के नियोजन के लिये निर्धारित प्रारूप में आवेदन 10 जून 2012 तक जिला शिक्षा केन्द्र डी ब्लाक पुराना सचिवालय में कार्यालयीन समय में प्रस्तुत किये जा सकेंगे.

आवेदक को आवेदन के साथ नियुक्ति पत्र,व्यापम द्वारा परीक्षा उत्तीर्ण प्रमाण पत्र,शैक्षणिक योग्यता,जाति प्रमाण पत्र, फोटोग्राफ, मानदेय प्राप्त करने संबंधी बैंक पासबुक की छायाप्रति अथवा वेतन देयक की छायाप्रति जिसमें निरंतरता प्रमाणित हो सकें संलग्न करना अनिवार्य है. इसके अलावा हाईस्कूल,हायरसेकण्डरी बोर्ड परीक्षा की अंकसूची,प्रमाण पत्र, अनुभव प्रमाण पत्रों की सत्यापित प्रतिलिपि आवेदन के साथ अनिवार्य रूप से प्रस्तुत किया जाना है. निगम/मंडल लघु वेतन एवं वाहन चालक कर्मचारी महासंघ के प्रांताध्यक्ष दिलबहादुर थापा ने बताया है कि कुक्कुट विकास निगम में 14 सूत्रीय मांग पत्र वादा खिलाफ आंदोलन का दूसरा चरण के प्रथम दिन काली पट्टी गेट मिटिंग जोरदार नारेबाजी की गई जिसमें विभिन्न निगम मण्डल कर्मचारी नेता पहुँचे और 14 सूत्रीय मांग पत्र जायज कहते हुये समर्थन दिया.

म.प्र. गृह निर्माण मण्डल लघु वेतन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रामकरण सौंधिया मत्स्य विभाग के सुरजभान नगरिक आपूर्ति निगम के महेश थापा भंडार गृह निगम के विकास बुन्देला आदि कर्मचारी नेता ने अपना समर्थन दिया. लंबे समय से संघर्षरत गुरुजी/अनुदेशक/पर्यवेक्षकों का प्रांतीय धरना पाँच सूत्रीय मांगों के समर्थन में राज्य शिक्षा केन्द्र पुस्तक भवन के सामने प्रात: 11.00 बजे से प्रारंभ हुआ. जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि मान्यता प्राप्त कर्मचारी संगठनों के प्रदेश अध्यक्षों को मंत्रालय में जाकर संघ की मांगों के निराकरण करवाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन सौंपा. इसके बाद संघर्ष समिति के सदस्यों ने निर्णय लिया है कि संघ का पाँच सूत्रीय मांगों का जब तक निराकरण नहीं होगा जब तक संघर्ष समिति धरना निरंतर जारी रखेंगी. आज मंगलवार 5 जून को मुख्यमंत्री की जनसुनवाई में पहुँचकर संघ का मांगों का स्मरण पत्र सौंपकर तत्काल निराकरण करवाने का अनुरोध करेंगे. सोमवार को धरने को संघर्ष समिति के संयोजकद्वय डा. रमेश द्विवेदी, राकेश पटेल, रामपाल सिंह राजपूत, सुरेन्द्र तिवारी, रामबिहारी विश्वकर्मा, भानुवति तिवारी, कालीचरण कुशवाह, हुकुम सिंह राजपूत आदि ने संबोधित किया.

म.प्र. शासकीय गैंगमैन श्रमिक संघ के प्रांताध्यक्ष विजय सिंह नेगी ने संचालक उद्यानिकी को ज्ञापन सौंपकर सहायक संचालक उद्यान द्वारा 7 जून को उद्यान परिसर में 100 कुशल मालियों को बुलाकर उनकी कार्यक्षमता एवं आयु सीमा का निर्धारण करने के लिये कर्मचारियों की अनिवार्य बैठक बुलाई गई है. संघ ने इस तरह की कार्यवाही का तीव्र विरोध कर संचालक को चेतावनी दी है कि जिन कर्मचारियों को परीक्षण किया जा रहा है उनमें से आधे कर्मचारी उच्च न्यायालय से नियमितीकरण का आदेश प्राप्त कर चुके है, परंतु विभाग न्यायालय के आदेशों को सरेआम अवमानना कर रहा है दूसरी ओर उम्र तथा कार्यक्षमता का बहाना बनाकर माली कर्मचारियों की छटनी की जा रही है. यदि उक्त कार्यवाही जबरिया की गई तो संघ उद्यान पर प्रदर्शन कर विरोध करेगा.

Related Posts: