माहौल में ढलने 13 दिन पहले

मेलबर्न 13 दिसंबर. टेस्ट शृंखला खेलने के लिए भारतीय क्रिकेट टीम मंगलवार को ऑस्ट्रेलिया पहुंच गई. सिंगापुर के रास्ते मेलबर्न पहुंचने के बाद टीम ने विश्राम किया और फिर राजधानी कैनबरा के लिए रवाना हो गई, जहां उसे दो अभ्यास मैच खेलने हैं.

टेस्ट टीम के तीन सबसे अनुभवी खिलाड़ी- सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और वी.वी.एस. लक्ष्मण सहित कुल सात खिलाड़ी गत बुधवार को ही ऑस्ट्रेलिया पहुंच गए थे. ये खिलाड़ी यहां के माहौल में खुद को ढालने के लिए निर्धारित कार्यक्रम से पहले ही रवाना हुए थे.  सचिन, द्रविड़ और लक्ष्मण के अलावा तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा, उमेश यादव, विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा और युवा स्पिनर प्रज्ञान ओझा गुरुवार को ही मेलबर्न पहुंच चुके थे. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी सहित बाकी खिलाड़ी सोमवार को रवाना हुए. ऑस्ट्रेलिया के लिए उड़ान भरने से पहले धोनी ने कहा, हमारी टीम ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में हराने के लिए तैयार है. भारतीय टीम का ऑस्ट्रेलिया दौरा 26 दिसम्बर से शुरू होगा. इसके अंतर्गत दोनों टीमों के बीच चार टेस्ट मैचों की शृंखला, दो ट्वेंटी-20 मुकाबले खेले जाएंगे. इसके अलावा भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम एक त्रिकोणीय एकदिवसीय शृंखला में भी हिस्सा लेगी, जिसमें श्रीलंका तीसरी टीम होगी. टेस्ट शृंखला से पहले भारतीय टीम दो अभ्यास मैच भी खेलेगी.

आत्ममुग्धता से नुकसान होगा

चेन्नई. भारतीय क्रिकेट टीम के कोच डंकन फ्लेचर ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान में उतरने से पहले भारत को किसी प्रकार की गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए क्योंकि अपने अच्छे प्रदर्शन और ऑस्ट्रेलिया के खराब प्रदर्शन को लेकर किसी भी तरह की आत्ममुग्धता उसके लिए अच्छी नहीं होगी.

फ्लेचर के मुताबिक न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैचों में लचर प्रदर्शन के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ किसी प्रकार की लापरवाही भारतीय टीम को महंगी पड़ सकती है. भारतीय टीम की ऑस्ट्रेलिया रवानगी से पहले फ्लेचर ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया से हमेशा सावधान रहना चाहिए क्योंकि किसी प्रकार की आत्ममुग्धता उसके लिए महंगी पड़ सकती है. फ्लेचर ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की मौजूदगी में कहा, अगर हम ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले किन्हीं कारणों से आत्ममुग्ध हैं तो यह टीम के लिए अच्छा नहीं है. हम एक महत्वपूर्ण दौरे पर जा रहे हैं और हमे यह नहीं भूलना चाहिए कि ऑस्ट्रेलिया के पास मैच जिताऊ गेंदबाज और बल्लेबाज हैं. ऐसे में हमें किसी प्रकार की लापरवाही से दूर रहना होगा. फ्लेचर ने कहा कि जहीर खान टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया जा रहे हैं, लेकिन खेलना फिटनेस रिपोर्ट पर निर्भर करेगा. जहीर मेलबर्न में टेस्ट खेलने से पहले दो अभ्यास मैच खेलेंगे और अगर उनकी फिटनेस रिपोर्ट अनुकूल रही तभी वह अंतिम एकादश में शामिल किए जाएंगे. भारतीय टीम को 15-16 दिसम्बर को कैनबरा में दो दिवसीय अभ्यास मैच के साथ दौरे की शुरुआत करनी है. इसके बाद उसे इसी स्थान पर 19-21 दिसम्बर तक एक अन्य अभ्यास मैच खेलना है. पहला टेस्ट मैच 26 से 30 दिसम्बर तक मेलबर्न में खेला जाना है.

Related Posts: